Home >> Exclusive News >> यूपी के 17 लाख राज्य कर्मचारियों को डीए का तोहफा

यूपी के 17 लाख राज्य कर्मचारियों को डीए का तोहफा


लखनऊ,(एजेंसी)13 जून। अखिलेश सरकार ने आखिरकार अपने लाखों कर्मचारियों को महंगाई भत्ता (डीए) को तोहफा दे दिया है। कर्मचारियों को महंगाई भत्ते के रूप में मूल वेतन का 113 प्रतिशत मिलेगा। डीए की दर में इस बार छह प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है।

UP-cm-08-06-2015-1433775313_storyimage
Image Loading

इस साल महंगाई भत्ते की यह पहली किस्त है। इसमें जनवरी से मई तक का डीए कर्मचारियों के भविष्य निधि खाते में जमा करा दिया जाएगा। जून का डीए नकद दिए जाने की तैयारी है। यह नकद राशि जून की सैलरी के साथ मिलेगी। इस तरह एक महीने के डीए की नकद रकम एक जुलाई को क र्मचारियों के हाथ में होगी।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को डीए दिए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इसके बाद वित्त विभाग के सचिव अजय अग्रवाल ने आदेश जारी कर दिया। यह भत्ता एक जनवरी से देय है। आदेश में कहा गया है कि महंगाई भत्ते की बढ़ी हुई धनराशि का भुगतान एक जून 2015 से (जून 2015 का भुगतान एक जुलाई 2015 को देय) नकद किया जाएगा। नई पेंशन योजना में शामिल क र्मचारियों को देय महंगाई भत्ता के एरियर की राशि दस प्रतिशत के बराबर राशि कर्मचारियों के टियर एक पेंशन खाते में जमा की जाएगी।

एरियर की शेष 90 प्रतिशत राशि संबंधित कर्मचारियों को नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट या पीपीएफ खाते में जमा होगी। जो कर्मचारी छह महीने में रिटायर होने वाले हैं, उन्हें पूरा डीए नकद मिलेगा। जिन कर्मचारियों को छठे वेतनमान का लाभ नहीं मिलता है, उन्हें 223 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा। विदित हो कि पिछले महीने हिन्दुस्तान ने डीए में हो रही देरी का सवाल उठाया था। इसके बाद आर्थिक तंगी के बावजूद सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए डीए का आदेश जारी कर दिया।

खास बातें
– 17 लाख कर्मचारियों को इससे होगा फायदा
– 1500 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा सरकार को
– डीए के दायरे में राज्य कर्मचारी, सहायता प्राप्त शिक्षण एवं प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं तथा शहरी स्थानीय निकायों तथा वर्कचार्ज कर्मचारी


Check Also

देश का किसान क्या चाहता है? इस ओर केन्द्र सरकार ध्यान देना बेहद जरुरी है: बसपा प्रमुख मायावती

तमाम विरोधों के बाद भी केंद्र सरकार ने किसान संबंधी बिलों को लोकसभा से पास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *