Saturday , 26 September 2020
Home >> U.P. >> यूपी: MLA के बेटे ने दी तालिबानी सजा, प्रेमी जोड़े को कालिख पुतवा गांव में घुमाया

यूपी: MLA के बेटे ने दी तालिबानी सजा, प्रेमी जोड़े को कालिख पुतवा गांव में घुमाया


लखनऊ,(एजेंसी)18 जून। गोरखपुर के गुलरिहा थाना क्षेत्र के खुटहन खास गांव में एक सपा विधायक के बेटे के कहने पर नाबालिग प्रेमी जोड़े को तालिबानी सजा दी गई। उनके चेहरे पर कालिख पोत उन्हें पूरे गांव में घुमाया गया। पंचायत ने लड़के का आधा सिर मुंडवा दिया और लड़की से शादी करा दी। इसके बाद पंचायत ने फरमान जारी करते हुए छह महीने के लिए दोनों को गांव से निकाल दिया। इस घटना के बाद लड़के और लड़की के घरवाले डरे हुए हैं।

kalikh-1_1434558369_

गोरखपुर में पंचायत में चेहरे पर कालिख पोतकर बैठाए गए नाबालिग प्रेमी जोड़े।

घटना बीते 15 जून की है, लेकिन इसका पता मोबाइल से बनाए गए वीडियो के वायरल होने पर बुधवार को चला। वहीं, एसपी सिटी हेमंत कुटियाल का कहना है कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

क्या है पूरा मामला
खुटहन खास गांव की रहने वाली 16 साल की लड़की पूजा (बदला हुआ नाम) का गांव के ही 17 साल के राजेश (बदला हुआ नाम) से पिछले दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। 15 जून को सुबह लड़की अपने किसी रिश्तेदार के यहां जाने के लिए निकली। चौराहे पर उसके प्रेमी ने उसे वहां जाने से रोका। लड़की नहीं मानी, तो लड़के ने उसे दो-तीन तमाचे मारे। इस घटना के बाद गांव के लोगों को दोनों के प्रेम प्रसंग का पता चला। इसके बाद पिपराइच के विधायक राजमति निषाद के बेटे और समाजवादी लोहिया वाहिनी के पूर्व राष्ट्रीय सचिव अमरेंद्र निषाद तक इस घटना की खबर पहुंची।

विधायक के बेटे ने बुलाई पंचायत
आरोप है कि इसके बाद विधायक के बेटे अमरेंद्र निषाद ने बीते सोमवार को पंचायत बुलाई। वहां लड़के को कंबल ओढ़ाया गया और फिर उसकी जमकर धुनाई हुई। उसका सिर आधा मुंडवाकर लड़की और उसके चेहरे पर कालिख पोती गई। दोनों को पूरे गांव में घुमाया गया। घरवालों की मौजूदगी में दोनों की शादी कराई गई और फिर गांव से छह महीने के लिए निकल जाने का फरमान सुना दिया गया। अगर घटना का वीडियो वायरल न हुआ होता, तो शायद इसकी जानकारी किसी को नहीं होती।

दोनों के घरवाले दहशत में
विधायक के बेटे की मौजूदगी में हुई घटना से लड़की और लड़के के घरवाले दहशत में हैं। वे मान रहे हैं कि पंचायत में विधायक के बेटे अमरेंद्र निषाद भी मौजूद थे। पीड़ित लड़की ने बताया, “उन लोगों ने हमारे माता-पिता को गन प्वाइंट पर ले रखा था और चुपचाप बैठे रहने के लिए मजबूर कर दिया था।” ये लोग पंचायत के फरमान को भी सही बता रहे हैं और घटना की किसी अफसर से शिकायत तक नहीं करना चाहते। हालांकि, एसपी सिटी हेमंत कुटियाल का कहना है कि घटना के बारे में वह जानकारी ले रहे हैं और जरूरी कार्रवाई की जाएगी।


Check Also

बड़ी खबर: आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम के 6 साल तक चुनाव लड़ने पर लगेगी रोक

उत्तर प्रदेश की सत्ता में योगी आदित्यनाथ के काबिज होने के बाद से सपा सांसद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *