Home >> Politics >> ललितगेट: सुषमा-वसुंधरा के कारण मोदी का बड़ा इम्तिहान?

ललितगेट: सुषमा-वसुंधरा के कारण मोदी का बड़ा इम्तिहान?


नई दिल्ली,(एजेंसी)18 जून। नरेंद्र मोदी सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री का एक राजनीतिक स्कैंडल सामने आया है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने क्रिकेट के खेल और क्रिकेट की राजनीति के एक अति महत्वपूर्ण किरदार ललित मोदी की मदद की है। ललित मोदी पर आरोप है कि आईपीएल के मुखिया के रुप में उन्होंने बहुत सारे ऐसे काम किये हैं जो गैरकानूनी हैं। यह मदद एक ऐसे आदमी को पंहुची है जो कानून से फरार है। तरह तरह की तरकीबें भिड़ा रहा है जिससे भारत में आकर कानूनी प्रक्रिया का सामना करने से बच सके। ललित मोदी के ऊपर यूपीए सरकार के दौरान जांच शुरू हुई थी लेकिन मौजूदा सरकार का रुख भी उनके प्रति वही है जो पिछली सरकार का था। अब पता चला है कि इस व्यक्ति को भारत से बाहर रखने में सुषमा स्वराज ने मदद की है।

modi_sushma

बात जुलाई 2014 की है लेकिन अब उजागर हुई है। दिल्ली के सत्ता के गलियारों में चर्चा है कि इस बात की जानकारी सरकार को थी लेकिन बात को दबा दिया गया था लेकिन जब मोदी सरकार के एक साल पूरा होने के बाद सुषमा स्वराज की चौतरफा तारीफ़ होने लगी तो उनसे पिछड़ जाने के डर से उनकी पार्टी के लोगों ने बात को लीक कर दिया। इस बात को और भी ताक़त तब मिल गयी जब बीजेपी की ओर से लोकसभा के सदस्य और पुराने क्रिकेट खिलाड़ी कीर्ति आज़ाद ने किसी आस्तीन के सांप को सुषमा के ऊपर आई राजनीतिक मुसीबत के लिए जिम्मेवार ठहरा दिया।

हालांकि आस्तीन के सांप की लाइन को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने खारिज कर दिया लेकिन बात निकल चुकी थी और अब दूर तलक जा चुकी है। ललित मोदी के खिलाफ सरकार की फाइलों में जो रिकार्ड हैं उनके हिसाब से उनको भारत सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं दी जा सकती है। हर स्तर पर सरकार की कोशिश है कि उनको भारत में लाकर उनको कानून का सामना करने के लिए मजबूर किया जाए, लेकिन सुषमा स्वराज ने उनकी मदद कर दी।

विदेश मंत्रालय की तरफ से ललित मोदी की स्थिति एक भगोड़े की ही है, क्योंकि वारदात के समय विदेश सचिव रही सुजाता सिंह ने साफ़ बता दिया है कि सरकार के स्तर पर ललित मोदी के बारे में नरेंद्र मोदी सरकार के आने के बाद कोई नया फैसला नहीं हुआ यानी सुषमा स्वराज ने निजी स्तर पर मदद की है।

मामला पेचीदा इसलिए हो गया कि ललित मोदी के एक दूसरे मददगार ब्रिटिश सांसद कीथ वाज़ ने अपने देश के अधिकारियों को लिख कर बता दिया कि भारत के विदेश मंत्री की चिट्ठी आ गई है और भारत सरकार को ललित मोदी की यात्रा के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ देने में कोई एतराज़ नहीं है। ललित मोदी को दस्तावेज़ मिल गए और वे जहां चाह रहे हैं, घूम रहे हैं। बात खुल जाने पर सुषमा स्वराज ने तर्क यह दिया था कि ललित मोदी की पत्नी का कैंसर का इलाज़ होना था और उसी के लिए उन्होंने मानवीय आधार पर मदद की थी लेकिन इस तर्क की धज्जियां उड़ चुकी हैं और अब इसका कोई नामलेवा नहीं हैं।

राजनीति में शुचिता की बात करने वाले प्रधानमंत्री के लिए यह बहुत ही कठिन समय है। आसान रास्ता यह है कि सुषमा स्वराज के इस्तीफे की पेशकश को स्वीकार कर लें लेकिन उससे भारी राजनीतिक नुकसान होगा। उसे सरकार का इक़बालिया बयान माना जाएगा। यह मुसीबत खासी भारी थी लेकिन इसपर एक और रदा जुड़ गया है।

lalit_modi_sushma_swaraj (1)

पता चला है कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने भी ललित मोदी को कानून की पंहुच से दूर रखने में मदद की है। उन्होंने राजस्थान विधानसभा में विपक्ष की नेता के रूप में 2011 और 2013 में ब्रिटिश अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर सिफारिश की है कि ललित मोदी को लन्दन में बने रहने दिया जाए. 2013 में जब वे तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलौत को हटाने के लिए चुनाव अभियान का नेतृत्व कर रही थीं तो उन्होंने चिट्ठी में लिखा था कि ललित मोदी की जो भी मदद वे कर रही थीं उसके बारे में भारत सरकार को पता नहीं लगना चाहिए। यह बहुत ही गंभीर मामला है।

सबको मालूम है कि इन दोनों को ही सरकार से हटाकर नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी और खुद को पाक साफ़ साबित कर सकते हैं। सबको मालूम है कि वे इस मामले में निजी तौर पर बेदाग़ हैं, लेकिन यह उनकी राजनीतिक जीवन में वही क्षण है जन पांडिचेरी लाइसेंस घोटाले के दौरान 1974 में इंदिरा गांधी के सामने आया था या टू जी स्पेट्रम घोटाले के दौरान मनमोहन सिंह के सामने आया था। इंदिरा गांधी और मनमोहन सिंह का उन घोटालों में कोई व्यक्तिगत हाथ नहीं था। उसी तरह ललितगेट में नरेंद्र मोदी का कोई भी हाथ नहीं है लेकिन सरकार के मुखिया के लिए इस तरह के घोटाले बहुत बड़ी मुसीबत होते हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि इस परेशानी को प्रधानमंत्री कैसे संभालते हैं।


Check Also

बड़ी खबर: राहुल गांधी पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने निशाना साधा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने निशाना साधा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *