Thursday , 24 September 2020
Home >> Exclusive News >> पब्लिक जूझ रही पानी संकट से, करप्शन के भेंट चढ़े 28 करोड़

पब्लिक जूझ रही पानी संकट से, करप्शन के भेंट चढ़े 28 करोड़


लखनऊ,(एजेंसी)22 जून। मंडे को होने वाली नगर निगम वर्किग कमेटी की मीटिंग हंगामेंदार होने के आसार है। इस मीटिंग में नगर निगम के द्वारा जलकल को दिए 28.5 करोड़ का हिसाब मांगा जाएगा। कारपोरेटर्स का आरोप है कि अगर ये धनराशि सही से खर्च की जाती तो इस भीषण गर्मी में पब्लिक को ड्रिकिंग वाटर क्राइसिस से जूझना नहीं पड़ता। सीवेज प्रॉब्लम से भी कुछ राहत मिल जाती। इसके अलावा फागिंग मशीशंस खरीदने का प्रपोजल भी रखे जाने की उम्मीद है।

download (1)

निगम संपत्ति के दस्तावेज गायब
मंडे को होने वाली वर्किंग कमेटी की मीटिंग में नगर निगम संपत्ति के दस्तावेजों से मामला लाया जाएगा। वर्किग कमेटी के मेंबर सुहैल अहमद के मुताबिक भूमाफिया निगम संपत्तियों के दस्तावेज गायब करा रहे हैं। वे नगर निगम की करोड़ों की संपत्तियों पर कब्जे कर रहे हैं।

घटिया बन रही रोड्स
नगर निगम वर्किग कमेटी की मीटिंग में शहर में मानक के विपरीत बन रही रोड्स का मामला भी गूंजने के आसार है। प्रपोजल के मुताबिक हाल में बनी ग्वालटोली रोड और हलीम मुस्लिम चौराहा से प्रेमनगर रोड कई जगह उखड़ गई है। इसलिए सड़क बनते समय मानक व गुणवत्ता की जांच के लिए मोबाइल लैब व लैब टेक्निशियन नियुक्त किया जाए।

सदन का फैसला फिर भी नहीं काम
वर्किग कमेटी के एक अन्य मेंबर नवीन पंडित ने कहा कि कहा कि नगर निगम सदन में हर एक वार्ड में 2-2 हैंडपंप लगाने का फैसला हुआ था पर अभी तक हैंडपम्प लगना भी नहीं शुरू हुए हैं। वहीं हाउस टैक्स बढ़ाने के मामले को भी उठाया जाएगा। वहीं एक अन्य मेंबर महेन्द्र शुक्ल ने प्रपोजल रखा है कि विधायकों के कहने पर दस लाख रुपये तक के काम हो रहे है लेकिन कारपोरेटर छोटे-छोटे कामों के लेकर दौड़ रहे हैं। एमएलए के काम विधायक निधि से ही कराए जाए। इसके अलावा कचरा निस्तारण की जिम्मेदारी मैसूर की कम्पनी को दिए जाने का मामला भी मीटिंग में रखा जाएगा। कम्पनी ये काम फ्री में करेगी। 1200 मीट्रिक टन कचरे के निस्तारण के लिए 10 एकड़ जमीन मांगी।


Check Also

नोएडा उत्तर भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक हब बनेगा: CM योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा में उत्तर भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक हब बनाने का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *