Tuesday , 22 September 2020
Home >> मुद्दा यह है कि >> वर्धा में पत्रकार की हत्या के पीछे कौन?

वर्धा में पत्रकार की हत्या के पीछे कौन?


नई दिल्ली,(एजेंसी)23 जून। मध्य प्रदेश के बालाघाट में भी स्वतंत्र पत्रकार संदीप कोठारी पर खनन माफियाओं का कहर टूटा है। खनन माफियाओं ने संदीप कोठारी की हत्या कर दी है। परिवार की मांग पर केस की जांच के लिए SIT गठित कर दी गई है।

wardha_reporter_murder

देश में सच बोलने वालों पत्रकारों को उसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ रही है। यूपी के बाद अब मध्य प्रदेश में बालाघाट के स्वतंत्र पत्रकार संदीप कोठारी की हत्या करके खनन माफियाओं ने शव को जला दिया। आरोपियों ने संदीप कोठारी को बालाघाट से अगवा कर महाराष्ट्र के वर्धा में वारदात को अंजाम दिया।

संदीप कोठारी हत्या केस में पुलिस ने ब्रजेश डहरवाल और विशाल दांडी नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। संदीप कोठारी को 19 जून को बालाघाट के कटंगी तहसील से अगवा किया था। 20 जून की रात को उसका शव महाराष्ट्र के वर्धा जिले से सिंधी रेलवे स्टेशन परिसर में मिला।

बताया जा रहा है कि खनिज माफिया से जुड़े लोग संदीप पर कुछ मुकदमे वापस लेने का दबाव बना रहे थे और ऐसा नहीं करने पर उसकी हत्या कर दी गई।

पुलिस को शक है कि संदीप की हत्या आपसी रंजिश का भी नतीजा हो सकती है। पुलिस के मुताबिक संदीप कोठारी के खिलाफ कई आपराधिक मुकदमें चल रहे थे, हालांकि परिवार का कहना है कि संदीप खनन माफियाओं के खिलाफ मुहिम छेड़े हुए था इसलिए उसे मुकदमों मे उलझाया गया था। परिवार की मांग पर जांच के लिए एसआईटी बना दी गई है जो केस को सुलझाने में जुटी है।


Check Also

इंजीनियरिंग की डिग्री धारकों ने पार्किंग अटेंडेंट की जॉब के लिए किया अप्लाई , 10वीं पास करने वाले को …

देश में बेरोजगारी की स्थिति क्या है। इस बात का अंदाजा इससे ही लगाया जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *