Home >> Breaking News >> Modi की रैली से पहले मचा बवाल , प्रशासन और स्कूल आमने-सामने

Modi की रैली से पहले मचा बवाल , प्रशासन और स्कूल आमने-सामने


Modi

लखनऊ,एजेंसी-25 फरवरी । बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की दो मार्च को प्रस्तावित रैली को लेकर जिला प्रशासन और शहर के स्कूल आमने-सामने हैं। प्रशासन ने रैली में लगे सुरक्षा बलों को स्कूलों में ठहराने का फरमान जारी किया है, जबकि परीक्षाओं का हवाला देते हुए स्कूलों ने इन्कार किया है। स्कूलों ने डीएम को पत्र लिखकर आदेश मानने से इन्कार किया है।

तीन मार्च से हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। दो मार्च को रमाबाई स्थल पर नरेंद्र मोदी की रैली है। जिला प्रशासन ने डीएवी कॉलेज, जय नरायण कॉलेज, महाराजा अग्रसेन कॉलेज, गांधी विद्यालय व बप्पा श्री नरायण इंटर कॉलेज को पत्र लिखकर पीएसी कैंप लगाने का निर्देश दिया है। पत्र में कहा गया है कि इन स्कूलों में पीएसी बल 28 फरवरी से दो मार्च तक रुकेगा। पत्र आने के बाद स्कूलों में हड़कंप मच गया है। एक दिन बाद ही परीक्षाएं कैसे होंगी? इसे लेकर स्कूलों की समझ में नहीं आ रहा है कि जब दो मार्च तक पीएसी ठहरेगी तो फिर भला सीटिंग अरेजमेंट से लेकर परीक्षाओं की बाकी तैयारी कैसे होगी। डीएवी कॉलेज के प्रिसिंपल ओपी त्रिपाठी ने बताया कि उनको 24 फरवरी को डीएम का पत्र मिला है, जिसमें उनके स्कूल में दो प्लाटून पीएसी को ठहराने का इंतजाम करने को कहा गया है। ओपी के मुताबिक, बोर्ड की परीक्षाओं के लिए दो-तीन दिन पहले से ही तैयारी करनी पड़ती है। उनके यहां करीब एक हजार बच्चे परीक्षा देंगे और इतनी बड़ी संख्या में सीटिंग अरेजमेंट करने में काफी वक्त चाहिए। पीएसी के ठहरने के कारण यह इंतजाम करना संभव नहीं है। डीएवी कॉलेज के प्रिसिंपल ने डीएम को पत्र लिखकर स्कूल में पीएसी कहीं और स्थानांतरित करने को कहा है।
बप्पा नरायण इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ.अवधेश नरायण उपाध्याय का कहना है कि उनके यहां भी पीएसी के कैंप के लिए डीएम का पत्र आया है। प्रशासन को यह समझना चाहिए कि जब तीन मार्च से परीक्षाएं होंगी तो फिर दो मार्च तक पीएसी कैंप कैसे हो सकता है। अगर पीएसी के दो सौ जवानों के ठहरने का इंतजाम किया जाएगा तो फिर परीक्षा की तैयारी कैसे होंगी, इसका जवाब कौन देगा। प्रधानाचार्य का कहना है कि इन हालात में पीएसी ठहराने का फरमान बिलकुल गलत है और यह परीक्षाओं के साथ खिलवाड़ है। प्रधानाचार्य ने डीएम को पत्र लिखकर पीएसी कैंप कहीं और लगवाने के लिए कहा है।
परीक्षाओं में कोई बाधा नहीं होने दी जाएगी। रैली की सुरक्षा भी महत्वपूर्ण है। बात करके इस मसले का हल निकाल लिया जाएगा।


Check Also

मणिपुर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष गोविंददास कोंथौजम भाजपा में हुए शामिल

पूर्व मंत्री और मणिपुर के बिष्णुपुर जिले से छह बार विधायक रहे गोविंददास कोंठौजम 1 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *