Home >> Breaking News >> Survey- दिल्ली में बीजेपी और ‘आप’ में कांटे की टक्कर

Survey- दिल्ली में बीजेपी और ‘आप’ में कांटे की टक्कर


delhi

नई दिल्ली,एजेंसी-4 मार्च । चुनाव पूर्व सर्वे कांग्रेस के लिए परेशानी का सबब बनते दिखाई दे रहे हैं। अब तक आए सर्वे में भाजपा को आगे दिखाया गया है। सीएसडीएस के ताजा सर्वे में भी भाजपा को कांग्रेस से आगे दिखाया गया है। महाराष्ट्र में किए गए इस सर्वे में कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन पर भाजपा-शिवसेना गठबंधन भारी पड़ता हुआ दिखाया है। वहीं इसी सर्वे में दिल्ली में कांग्रेस को दरकिनार कर सीधी टक्कर भाजपा और हाल ही में वजूद में आई आम आदमी पार्टी के बीच दिखाई गई है।
दिल्ली में इन दोनों ही पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर दिखाई गई है। सर्वे के मुताबिक यदि अभी दिल्ली में चुनाव होता है तो इसका फायदा भाजपा को होगा। सर्वे की मानें तो अभी चुनाव होने पर भाजपा को 36 तो आप को 35 फीसद वोट मिलने की उम्मीद है। वहीं तीसरे नंबर पर आने वाली पार्टी को महज 22 फीसद वोट मिलते दिखाए गए हैं।
सीएसडीएस के इस सर्वे में मौजूदा समय का फायदा भाजपा को न सिर्फ दिल्ली विधानसभा चुनाव में दिखाया गया है बल्कि लोकसभा चुनाव में भी दिखाया गया है। सर्वे में दिल्ली की सात सीटों में से भाजपा को दो से चार, आप को भी दो से चार और कांग्रेस को अधिकतम दो सीट मिलने की संभावना व्यक्त की गई है। इस सर्वे की मानें तो आम आदमी पार्टी आगामी चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही का खेल खराब कर सकती है। वहीं दिल्ली में अपनी जीत दर्ज कराने के बाद उसकी राजनीतिक महत्वाकांक्षा भाजपा-कांग्रेस के लिए चिंता का कारण बनी हुई है।
सीएसडीएस के इस सर्वे में कुछ बड़ी अहम बातें निकलकर सामने आई हैं। इस सर्वे के मुताबिक पिछले एक माह के अंदर भाजपा के वोट शेयर में करीब छह फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वहीं आप के वोट शेयर में 13 फीसदी गिरावट दर्ज की गई है। यहां पर एक खास बात यह सामने निकलकर सामने आई है कि आप संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा दिल्ली के सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद से अब तक पार्टी की लोकप्रियता में खासी कमी देखने को मिली है। ज्यादातर लोगों की राय में केजरीवाल का इस्तीफा देना गलत फैसला था। हालांकि दिल्ली के सियासी दंगल में फिर भी आप सबसे आगे है।
सर्वे में केजरीवाल न सिर्फ दिल्ली के मुकाबले में आगे चल रहे हैं बल्कि वह नरेंद्र मोदी तक को टक्कर दे रहे हैं। सर्वे की मानें तो कई लोग ऐसे हैं जो मोदी की जगह अरविंद केजरीवाल को देश के पीएम के रूप में देखना चाहते हैं। लोगों का यह भी मानना है कि उनके लिए प्राथमिकता दिल्ली नहीं बल्कि लोकसभा चुनाव है।


Check Also

बिहारी स्वाभिमानी होते हैं, चंद पैसों में अपने बच्चों का भविष्य नहीं बेचते! : RJD

बिहार चुनाव : राजद ने ट्वीट कर कहा, कोरोना की वैक्सीन देश की है, भाजपा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *