Home >> U.P. >> यूपी के इस महाघोटाले के आगे कुछ भी नहीं है व्यापमं

यूपी के इस महाघोटाले के आगे कुछ भी नहीं है व्यापमं


इलाहाबाद,(एजेंसी)21 जुलाई। मध्यप्रदेश के व्यापमं घोटाले की आंच अभी ठंडी ही नहीं हुई की उत्तर-प्रदेश से एक बड़े घोटाले की खबर आ रही। सूत्रों की माने तो यूपी का ये घोटाला सभी घोटालों से बढ़ा साबित हो सकता है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा था कि राज्य शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर अनियमितता हुई है। जुलाई के शुरुआत में दो जजों ने इस मामले की सुनवाई करते हुए दो आदेश पारित किए, जिसमें कहा गया कि शिक्षा विभाग का घोटाला मध्यप्रदेश के व्यापमं की तर्ज पर भी हो सकता है।

allahabad-highcourt

10 जुलाई को पारित आदेश में कोर्ट ने कहा कि राज्य शिक्षा विभाग बड़े पैमाने पर गलत तरीके से स्कूल और कॉलेज को मान्यता दी है, ताकि बहुत बड़े स्तर पर परीक्षाओं में चीटिंंग हो सके।कोर्ट ने यह भी कहा कि शिक्षा विभाग अस्थायी शिक्षकों का जानबूझकर वेतन को भी रोका है। 6 जुलाई को पारित एक आदेश पर हाईकोर्ट ने कहा कि राज्य सरकार ने नियमों और कानूनों को ताक पर रख कर शिक्षकों और प्रिंसिपलों की नियुक्ति स्कूल और कॉलेज में की।

हाईकोर्ट ने कहा कि इस पर फैसला 10 अगस्त को शिक्षा विभाग द्वारा दी जाने वाले रिप्लाई के बाद लिया जायेगा।

यूपी के इस महाघोटाले के आगे कुछ भी नहीं है व्यापमं, पढ़िए क्या है पूरा माजरा
दो जजों की बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा, “सरकार द्वारा शिक्षा के लिए जो बजट निर्धारित हुए थे उसके साथ मैनेजमेंट ने सीनियर अधिकारिओं, अन्य अधिकारिओं और उन दलालों के साथ मिलकर हेरा-फेरी की गयी है जो सामूहिक नक़ल की व्यवस्था से लेकर कॉन्ट्रैक्ट्स पर नियुक्तियां कराने का काम करते हैं।” हाई कोर्ट ने इसे कैंसर की तरह खतरनाक बताया था।

जज राजेश कुमार और समशेर बहादुर सिंह ने कहा कि कोर्ट एक पैनल का गठन कर पूरे घोटाले की जांच कराएगी और यह पैनल यह मैकेनिज्म भी बताएगी की शिक्षा विभाग से करप्शन को कैसे दूर किया जाए।


Check Also

यूपी के फिरोजाबाद में कोरोना के साथ वायरल फीवर और डेंगू का बढ़ता जा रहा कहर, फिर सामने आए इतने केस

यूपी के फिरोजाबाद में वायरल फीवर और डेंगू का कहर और भी तेजी से बढ़ता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *