Home >> Breaking News >> भाजपा का जवाबी प्रहार: कांग्रेस शासित राज्यों में घोटालों का लगाया आरोप

भाजपा का जवाबी प्रहार: कांग्रेस शासित राज्यों में घोटालों का लगाया आरोप


नई दिल्ली,(एजेंसी)21 जुलाई। कांग्रेस के भ्रष्टाचार के आरोपों पर पलटवार करते हुए भाजपा ने आज कहा कि वह दामाद और क्वात्रोक्की सहित कांग्रेस शासित राज्यों में घोटालों के मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है।

आज से शुरू हुए संसद के मानसून सत्र के बीच संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। हमारे पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है, चिंता करने के लिए कुछ भी नहीं है।

उन्होंने कहा कि भाजपा के कई सांसदों ने कांग्रेस शासित राज्यों में घोटालों के बारे में चर्चा कराने के लिए नोटिस दिया है।

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए कहा कि वे सभी मुद्दों पर चर्चा कराने के लिए तैयार हैं लेकिन विपक्षी दल केवल व्यवधान पैदा करना चाहते हैं।

विवादित भूमि सौदों के संबंध में चर्चा में आए सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा और बोफोर्स घोटाले का जिक्र करते हुए नकवी ने कहा, कांग्रेस के भ्रष्टाचार के कंकाल से अधिक मुखर और कुछ भी नहीं है। हम दामाद से लेकर क्वात्रोक्की तक सभी लंबित मुद्दों पर चर्चा कराने को तैयार हैं।

Venkaiah-kuFC--621x414@LiveMint-21-07-2015-1437469824_storyimage

उन्होंने कहा कि सरकार केरल में चारा घोटाले, गोवा के वाटरगेट परियोजना घोटाले, उत्तराखंड के बाढ़ घोटाले और हिमाचल प्रदेश के स्टील घोटाले पर चर्चा कराने को तैयार है।

भाजपा के सांसदों द्वारा इन घोटालों के बारे में चर्चा कराने के नोटिस का जिक्र करते हुए नकवी ने कहा कि सरकार कांग्रेस के आरोपों के जवाब के साथ तैयार है।

ललित मोदी प्रकरण में सुषमा स्वराज और वसुंधरा राजे का नाम जुड़ने और व्यापमं घोटाले में शिवराज सिंह चौहान से जुड़े विवाद को लेकर सरकार और विपक्षी कांग्रेस आमने सामने है और इसके कारण संसद सत्र के हंगामेदार होने के संकेत हैं।

कांग्रेस ने स्पष्ट कर दिया है कि जब तक आरोपों का सामना कर रहे भाजपा के कुछ नेता इस्तीफा नहीं देते तब तक वह संसद में कामकाज नहीं होने देगी, जबकि सरकार ने जोर दिया है कि कोई इस्तीफा नहीं देगा और वह किसी अल्टीमेटम के दबाव में नहीं आयेगी।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की इस टिप्पणी पर कि प्रधानमंत्री मोदी के 56 इंच की छाती छह महीने में 5.6 इंच की हो जाएगी, वेंकैया नायडू ने कहा है कि कांग्रेस को यह विचार करना चाहिए कि उनकी संख्या क्यों घटकर 44 रह गई।

राहुल गांधी के सरकार को एक इंच जमीन नहीं लेने देने के बयान पर वरिष्ठ मंत्री ने कहा, इसका अर्थ यह है कि वे देश के विकास को आगे नहीं बढ़ाना चाहते हैं और यह अस्वीकार्य है।

उन्होंने कहा कि कल सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस के अलावा विभिन्न दलों का यह विचार था कि संसद में कामकाज होना चाहिए। क्या हम संसद में राज्य से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने जा रहे हैं इस पर चर्चा होनी चाहिए और फैसला होना चाहिए।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह समझते हैं कि सदन चलाने की जिम्मेदारी विपक्ष की भी है, वेंकैया ने पूछा कि क्या सदन केवल सत्ताधारी पार्टी का ही है। संसद चलाने की जिम्मेदारी सबकी है। बहरहाल, राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने ललित मोदी प्रकरण पर चर्चा कराने के लिए नोटिस दिया है।


Check Also

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक साथ 10 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय का छापा, TMC नेताओं से लिंक का शक

पूरे देश में रिकॉर्ड टीकाकरण के बीच फर्जी वैक्सीन का मामला भी प्रकाश में आया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *