Home >> U.P. >> इस डीएम ने दी अपने स्कूल को गुरु दक्षिणा…

इस डीएम ने दी अपने स्कूल को गुरु दक्षिणा…


आजमगढ़,(एजेंसी)22 जुलाई। उत्तर प्रदेश के एक आईएएस अफसर अनुराग यादव ने समाज और ब्यूरोक्रेसी के सामने एक अनूठी मिसाल कायम की है। अनुराग यादव ने जिस प्राइमरी स्कूल में सिर्फ छह महीने शिक्षा ग्रहण की थी, उसे एक अनूठे अंदाज में गुरु दक्षिणा दी है। उन्होंने आजमगढ़ के सठियांव ब्‍लॉक के भगवानपुर गांव स्‍थित बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित प्राइमरी स्कूल की कायाकल्प का जिम्मा उठाया है।

anurag-yadav

उन्होंने अपने माता पिता और दादा-दादी की को सम्मान देते हुए अपने पैतृक गाँव के प्राइमरी स्कूल में वे सभी सुविधाएं देने का प्रण किया जिसकी सरकारी कोशिशों के बाद भी कमी रह जाती है। अनुराग यादव ने इस प्राइमरी स्कूल को मॉडल प्राइमरी स्कूल बनाने का फैसला लिया है। मंगलवार को इस प्राइमरी स्कूल में जिले के डीएम सुहास एलवाई सहित कई बड़े अधिकारी इस स्कूल में पहुंचे। यहाँ आयोजित एक कार्यक्रम में अधिकारियों ने इस स्कूल के बच्चों को एक-एक सेट यूनिफार्म, थाली, गिलास, जूते वितरित किए।

Untitled

बच्चों को किट देते अनुराग यादव, उनकी पत्नी प्रीती यादव और अन्य अधिकारी
वर्तमान में अनुराग यादव झांसी में बतौर डीएम पोस्टेड हैं। उनका मनना है कि सरकारी प्रयासों के बाद भी कई बार गरीब घर के बच्चे सुविधाओं के अभाव में पढ़ाई से वंचित रह जाते हैं। उन्होंने कहा कि वे एक आईएएस अफसर होते हुए भी समाज का हिस्सा हैं और समाज के प्रति उनकी जिम्मेदारी भी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि यदि अगर सक्षम व्यक्ति इस तरह स्कूलों को अपना लें तो सरकारी स्कूलों में भी सुविधाओं का अभाव नहीं रहेगा और इन स्कूलों में गरीब बच्चों को मिलने वाली शिक्षा का स्तर बढ़ेगा। अनुराग यादव ने बच्‍चों से भी अपील की कि वे अपने स्कूल को साफ-स्‍वच्‍छ रखने में भागीदार बनें और पढ़-लिखकर अपने गाँव का नाम रौशन करें।

ias_1429515594

अनुराग यादव के इस कदम ने देश के अन्य आलाधिकारियों के लिए एक अनुकर्णीय उदहारण पेश किया है। अनुराग यादव में अपने निजी प्रयासों से अपने पैतृक गांव के प्राइमरी स्कूल को न सिर्फ मॉडल स्कूल के रूप में तब्दील किया है बल्कि अब समाज के अन्य सक्षम और सामर्थ्यवान व्यक्तियों के सामने एक अनूठा उदाहरण पेश किया है कि वे भी इस तरह की पहल करें।

आजमगढ़ के डीएम सुहास एलवाई ने बताया कि इस स्‍कूल को जिलाधिकारी झांसी की तरफ से तोहफा मिला है और अब कोशिश होगी कि जिले के सभी प्राइमरी स्कूलों को इसी तरह के संसाधन उपलब्ध कराए जाएँ और उन्हें पर मॉडल स्कूल बनाया जाए। इस अवसर पर बोलते हुए आजमगढ़ के एसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि एक बेटे को संवारने में मां की भूमिका अहम होती है। माता-पिता ने जिस तरह से अनुराग यादव को संस्कारित किया है, यह उसी का नतीजा है कि आज वह अपने पैतृक गांव के विकास के लिए सोचा रहे हैं और उसे मूर्त रूप दे रहे हैं। उन्होंने जिस विद्यालय से शिक्षा ग्रहण की है आज उसी विद्यालय का जीर्णोद्वार कराकर प्रदेश में एक नया और प्रेरणादायक काम किया है।

वहीँ अपने डीएम बेटे के इस कदम से गौरवान्वित उनकी माँ मां प्रेमा देवी ने कहा कि आज उनके बेटे ने उनका सर फख्र से ऊंचा कर दिया है। उन्होंने ईश्वर का धन्यवाद करते हुए कहा कि भगवान ने उनके परिवार को इस लायक बनाया है कि गांव के विकास के साथ क्षेत्र के विकास में उनका परिवार योगदान दे रहा है। इस गौरवशाली मौके पर इस मौके पर डीएम अनुराग यादव के पिता लक्ष्मीनारायण यादव, उनकी पत्नी प्रीति चौधरी सहित जिले के तमाम अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।

अपने पत्नी प्रीती और बेटे के साथ डीएम अनुराग यादव

आपको बता दें कि इस्ससे पहले अनुराग यादव की पत्नी प्रीति यादव ने इससे पहले झांसी में सोशल मीडिया पर किसानों की सहायता करने के लिए एक अभियान चलाया था । उन्होंने फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए लोगों से उनकी आर्थिक मदद करने की अपील कर धन्राही एकत्र की और उसे किसानों की मदद के लिए वितरित किया था।


Check Also

यूपी के फिरोजाबाद में कोरोना के साथ वायरल फीवर और डेंगू का बढ़ता जा रहा कहर, फिर सामने आए इतने केस

यूपी के फिरोजाबाद में वायरल फीवर और डेंगू का कहर और भी तेजी से बढ़ता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *