Home >> Breaking News >> विदेशमंत्री की जवाबदेही तय हो, चर्चा से काम नहीं चलेगा: आनंद शर्मा

विदेशमंत्री की जवाबदेही तय हो, चर्चा से काम नहीं चलेगा: आनंद शर्मा


नई दिल्ली,(एजेंसी)22 जुलाई। ललित मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के मुद्दे पर कांग्रेस किसी भी समझौते के मूड में नजर नहीं आ रही है। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि यह प्रधानमंत्री का अहम है जो संसद को नहीं चलने दे रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि इस पूरे मामले में जवाबदेही तय हो, सिर्फ चर्चा से काम नहीं चलेगा।

हंगामे की भेंट चढ़ा मानसून सत्र का दूसरा दिन
इस बीच संसद के मानसून सत्र के दूसरे दिन ललितगेट मुद्दे पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और वीरप्पा मोइली ने चर्चा के लिए कार्यस्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया जिसे लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने नामंजूर कर दिया। दोनों नेता इस मुद्दे पर लोकसभा में बहस चाहते थे। इसके बाद कांग्रेसी सांसद अपने साथ लाए पोस्टर हवा में लहराने लगे जिस पर लिखा था, ‘बड़े मोदी मेहरबान, तो छोटे मोदी पहलवान।’ फिर सदन में सत्ता पक्ष के भाजपा सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

download (15)

इससे पहले अन्य विपक्षी दलाें का साथ नहीं मिलने पर संसद परिसर में गांधी मूर्ति के सामने धरना कार्यक्रम रद करने के बाद राहुल गांधी समेत सभी कांग्रेसी सांसद काली पट्टी बांधकर सदन पहुंचे।

12 बजे लोकसभा की कार्यवाही एक बार फिर शुरू हुई। स्पीकर ने हंगामा, पोस्टर लहराने और काली पट्टी बांधकर सदन में अाने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी। लेकिन इसके बावजूद कांग्रेसी हंगामा करते रहे। इसके बाद स्पीकर ने दोपहर 2 बजे तक सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद एक बार फिर विपक्षी सांसद हंगामा करते रहे। फिर स्पीकर ने लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी।

उधर, राज्यसभा में विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह चौहान का इस्तीफा मांगा। इस पर सदन के नेता अरुण जेटली ने कहा कि हम अभी इस पर चर्चा के लिए तैयार हैं। लेकिन विपक्षी सांसद हंगामा करते रहे। इसके बाद उपसभापति पी जे कुरियन ने सदन की पहले सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी।

दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर जेटली ने कहा कि मुद्दा केंद्र के अधीन नहीं है। उन्होंने सीपीएम नेता सीताराम येचुरी के बयान पर उन्हें चुनौती देते हुए कहा कि वे बताएं कि सुषमा स्वराज ने किस कानून का उल्लंघन किया? इस पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि व्यापम राष्ट्रीय मुद्दा है। केंद्र ललितगेट पर सुषमा और वसुंधरा पर कार्रवाई को तैयार नहीं है। पहले दोनों का इस्तीफा हो उसके बाद मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए। इस बीच हंगामा जारी रहा। उपसभापति ने सदन की कार्यवाही चौथी बार दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। दो बजे एक बार फिर हंगामे में बीच कांग्रेस नेता ने सुषमा मामले में कार्यस्थगन का नोटिस दिया। उन्होंने सरकार से तुरंत कार्रवाई की मांग की। इस बीच सत्तापक्ष व विपक्ष के बीच नारेबाजी चलती रही। हंगामा न थमता देख सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई।

भाजपा संसदीय दल की बैठक
इससे पूर्व सदन में ललित मोदी एवं व्यापम मामले पर हंगामे को लेकर आज भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई जिसमें सुषमा स्वराज ने कहा कि ललित मोदी मामले में हमारी कोई गलती नहीं है। इस बारे में हम सबकुछ सदन में बताएंगे। विवाद पर कांग्रेस गलत बयान दे रही है।
बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, वेंकैया नायडू सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने हिस्सा लिया।

बैठक में सदन में विपक्ष के हंगामे से निपटने के लिए रणनीति पर चर्चा हुई। इसके साथ ही यदि सदन में बहस हो तो विपक्ष के हमले को कैसे कुंद करना है, इसपर भी चर्चा हुई।
इस दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हमारे किसी नेता ने कुछ भी गलत नहीं किया, जिससे हमें शर्मिंदा होना पड़े। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा सांसदों को सरकार के कामों पर गर्व होना चाहिए।

गौरतलब है कि ललित मोदी मामले में सुषमा स्वराज व वसुंधरा राजे तथा व्यापमं घोटाले में शिवराज चौहान के इस्तीफे के मुद्दे पर कांग्रेस अड़ी हुई है। उसका कहना है कि जब तक इन तीनों के इस्तीफे नहीं हो जाते वह संसद चलने नहीं देगी। जबकि सरकार का कहना है कि वह हर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है लेकिन विपक्ष चर्चा से भाग रहा है।


Check Also

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक साथ 10 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय का छापा, TMC नेताओं से लिंक का शक

पूरे देश में रिकॉर्ड टीकाकरण के बीच फर्जी वैक्सीन का मामला भी प्रकाश में आया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *