Home >> Breaking News >> संसद में आज भी बरपेगा हंगामा, सुषमा कर सकती हैं कांग्रेस नेता के नाम का खुलासा

संसद में आज भी बरपेगा हंगामा, सुषमा कर सकती हैं कांग्रेस नेता के नाम का खुलासा


नई दिल्ली,(एजेंसी)23 जुलाई। संसद के मानसून सत्र के तीसरे दिन भी हंगामे के पूरे आसार हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज उस वरिष्ठ कांग्रेस नेता के नाम का खुलासा कर सकती हैं, जिस पर उन्होंने कोयला घोटाले के आरोपी संतोष बागरोडिया को डिप्लोमैटिक पासपोर्ट दिलाने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया था।

व्यापम और ललित गेट मामले पर विपक्ष के हमलों से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है। बैठक में सभी सीनियर मंत्री मौजूद रहेंगे। बैठक में सदन की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने पर चर्चा होगी क्योंकि कई अहम बिल सदन के पटल रखे जाने हैं, लेकिन विपक्ष के हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही नहीं चल पा रही है।

sushma_072315082315

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के इस्तीफे पर अड़ा विपक्ष (फाइल फोटो)

विपक्ष ने मोदी सरकार के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोल दिया है। विपक्ष व्यापम घोटाले पर शिवराज सिंह चौहान और ललित मोदी मामले में सुषमा स्वराज और वसुंधरा राजे सिंधिया के इस्तीफे की मांग पर अड़ा है। वहीं विपक्ष के हमलों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए मोदी सरकार भी कांग्रेस को भी घेरने की तैयारी कर रही है। बीजेपी केरल में सोलर घोटाला, उत्तराखंड में बाढ़ घोटाला, हिमाचल में स्टील घोटाला जैसे जैसे मुद्दों को उठाकर कांग्रेस का मुंह बंद करना चाहती है।

BJP का जवाबी हमला, हरीश रावत पर लगाया आरोप
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज कांग्रेस संसद में किस नेता का नाम लेंगी, इस पर सस्पेंस बरकरार है। विपक्ष के बढ़ते दवाब के बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कोल घोटाले के आरोपी को डिप्लोमैटिक पासपोर्ट देने के लिए कांग्रेस के एक सीनियर नेता की पैरवी की बात ट्वीट कर कांग्रेस को बैकफुट पर लाने की कोशिश की थी।

सुषमा स्वराज के इस्तीफे को लेकर संसद में जहां तकरार बढ़ गई है, वहीं कांग्रेस के दाग से बीजेपी ने अपने दाग धोने की रणनीति बनाई है। डिप्लोमेटिक पासपोर्ट के लिए मदद मांगने पर एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता को घेरने के बाद बीजेपी ने उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत के सचिव पर घूसखोरी का आरोप लगाया है। इस बाबत एक स्टिंग भी जारी किया गया है। बीजेपी ने रावत के इस्तीफे की मांग की है।

व्यापम मामले में विपक्ष के हमलों से घायल बीजेपी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत के बहाने कांग्रेस पर बड़ा हमला किया है। पार्टी ने बुधवार को रावत के निजी सचिव के खिलाफ एक स्टिंग जारी किया है। बीजेपी ने आरोप लगाया है‍ कि मुख्‍यमंत्री ने पीएस के साथ मिलकर आबकारी नियमों में बदलाव करते हुए शराब ठेका देने की प्रक्रिया में बिचौलियों को शामिल किया और शराब कारोबारियों को फायदा पहुंचाने का काम किया है।

बीजेपी ने मामले में हरीश रावत का इस्तीफा मांगा है, जबकि रावत ने आरोपों पर जवाब देते हुए स्‍टिंग की सत्‍यता पर सवाल उठाए हैं। सीएम ने कहा है कि शराब के ठेकों का वितरण लॉटरी सिस्‍टम द्वारा किया जाता है जो पहले ही हो चुका है। उन्‍होंने यह भी कहा कि इसमें वेंडिंग स्‍तर पर ही मध्‍यस्‍थ शामिल हैं।

क्या है स्टिंग में और इसे किसने किया
मुख्यमंत्री के जिस सचिव का स्टिंग ऑपरेशन किया गया है उसका नाम मोहम्मद शाहिद है। यह स्टिंग एक पत्रकार ने किया है। स्टिंग में कथि‍त आरोपी के ठेके का लाइसेंस देने के लिए मोलभाव कर रहा है। स्टिंग करने वाले पत्रकार का दावा है कि इस सीडी की सत्यता की जांच किसी भी लैब से कराई जा सकती है। साथ ही उसने कहा है कि ये स्टिंग देहरादून में पिछले 60 दिनों के दौरान की गई है।

बीजेपी नेता निर्मला सीतारमण ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में स्‍टिंग ऑपरेशन जारी करते हुए कहा कि इस स्‍टिंग ऑपरेशन में मुख्‍यमंत्री के पीएस मोहम्‍मद शाहिद बिचौलिए से बात करते और घूस लेते नजर आ रहे हैं।

सीतारमण की इस प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद देहरादून में नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने कहा कि शराब कारोबार में सरकार द्वारा माफिया से अंडर टेबल एग्रीमेंट का आरोप आज साबित हो गया। सीएम के इस चहेते अधिकारी को गुजरात से यहां उत्‍तराखंड को लूटने के लिए लाया गया था। सीएम तत्‍काल इस्‍तीफा दें और उस भ्रष्‍ट अधिकारी को गिरफ्तार किया जाए।


Check Also

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक साथ 10 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय का छापा, TMC नेताओं से लिंक का शक

पूरे देश में रिकॉर्ड टीकाकरण के बीच फर्जी वैक्सीन का मामला भी प्रकाश में आया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *