Home >> Exclusive News >> प्रोफेशनल कोर्स की तरफ युवाओं का बढता रूझान

प्रोफेशनल कोर्स की तरफ युवाओं का बढता रूझान


Garima

गरिमा सिंह ,खबर इंडिया नेटवर्क-लखनऊ। आज के युवाओं में प्रोफेशनल कोर्स को लेकर काफी उत्साह नजर आता है। एक जमाना था जब बारहवी के बाद ज्यादा से ज्यादा बच्चे सिर्फ बी ए या बी एस सी में दाखिला ले सकते थे। उनका सपना सरकारी नौकरी पाने का होता था लेकिन कहते है कि परिवर्तन कब रूकता है।

आज हकीकत कुछ और है। युवा प्रोफेशनल कोर्स को ज्यादा अहमियत दे रहे है। युवाओं का कहना है की मार्केट में मल्टीटासिकग वर्करों की डिमांड है। कारपोरेट सेक्टर में प्रोफेशनल कोर्स के स्टुडेंट की माग है।

कर्इ युवा तो बिल्कुल लीक से हटकर काम करना चाहते है इसलिए प्रोफेशनल कोर्स का चयन करते है।
युवाओं से बात करने के बाद ये पता चला की सरकारी सेक्टर में नौकरी पाने का क्रेज पहले से काफी कम हो गया है।
रजत गल्र्स डिग्री कालेज की डायरेक्टर डा कुसुम कुमारी जायसवाल से बात करने पर उन्होनें कहा कि आज के युवा सिर्फ एक सरकारी नौकरी और शादी करके खुश नही है वो उड़ान भरना चाहते है। अब युवाओं को कंफर्ट जोन से बाहर निकल कर काम करने में मजा आ रहा है इस लिये युवाओं का आकर्षण प्रोफेशनल कोर्स की तरफ बढ रहा है।

ऐमिटी विश्वविधालय से मीडिया की पढार्इ कर रही इरेका से बात करने पर उनका कहना था की लाइफ में उन्हे 10 से 5 काम नही करना है। एक ही तो लाइफ मिली है जिसमें वो कुछ अलग आउट आफ द बाक्स करना चाहती है, ऐसा कुछ क्रिएटिव करने का मौका प्रोफेशनल कोर्स में मिलता है।

रामस्वरूप कॉलेज के अंकित रावत का कहना है कि पहले लोगो के पास विकल्प नही थे शायद वो इस वजह से ही बी ए या बी एस सी करते थे लेकिन आज हमारे पास हमारी योग्यता और रूचि के हिसाब से कोर्स उपलब्ध है जिसकी वजह से हम अपने अपने चुने क्षेत्र में बेहतरीन काम कर सकते है।

वही दूसरी तरफ बीबीडी से बीटेक कर रहे अल्तमस की माने तो प्रोफेशनल कोर्स में भी मुकाबला तगडा़ है यहा लम्बी रेस में वही टिक सकता है जो बहुआयामी हो। प्रोफेशनल कोर्स हमें मल्टीटैलेंटेड बनाने में मददगार साबित होते है।
ज्यादा वर्कलोड आज के युवा उठाने को तैयार है बजाय रूटीनवर्क करने के। आज का युवा नये रास्ते पर चलना चाहता है जीवन के रोचकता को महसूस करना चाहता है वो अपनी अलग पहचान अलग मंजिल देख रहा है चाहे रास्ते कितने भी पथरीले हो। उसे सफलता चाहिये वो अपनी रेस में दौडना चाहता है।
प्रोफेशनल कोर्स का जुनून कह लिजिए या फिर कुछ और आज का युवा अपनी मंजिल तक पहुचने के लिये तैयार है जहा एक सुनहरा भविष्य उनकी प्रतीक्षा में है।

 

 


Check Also

जब व्यक्ति अपनी क्षमता का आंकलन कर लेता है तभी उसका उद्धार हो पाता है : भगवान कृष्ण

श्रीमद्भागवत गीता में भगवान कृष्ण के द्वारा रण भूमि में अर्जुन को उपदेश दिए गए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *