Wednesday , 21 October 2020
Home >> Breaking News >> UP : 50 फीसद वोटर घर से नहीं निकलते बाहर

UP : 50 फीसद वोटर घर से नहीं निकलते बाहर


Voters
लखनऊ,एजेंसी-13 मार्च | माना जाता है कि देश में सरकार बनाने में उत्तर प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होती है लेकिन यहाँ की सच्चाई सुनकर आप भी हैरान रह जायेंगे| सच्चाई यह है कि यहां के 45 से 50 फीसदी मतदाता हर चुनाव में घर से बाहर नहीं निकलते हैं। अब तक के पिछले 15 चुनावों के आंकड़ों से जाहिर है कि मताधिकार का प्रयोग करने में उप्र की जनता काफी कंजूसी बरतती है।

पहली लोकसभा के गठन के लिए 1951 में चुनाव हुए। तब भी मात्र 38.41 फीसदी मतदाता ही अपने प्रतिनिधि चुनने मतदान केन्द्रों तक पहुंचे। 1957 में हुए चुनाव में भी यह आंकड़ा बमुश्किल 46.02 फीसदी पहुंच पाया। 1962 और 1967 के चुनाव में मतदाताओं में थोड़ी जागरूकता आई और मत प्रतिशत क्रमश: 51.02 व 54.51 रहा।

इन चुनावों में जनता की बढ़ती भागीदारी से लगा कि लोग मताधिकार के महत्व को अब समझने लगे हैं, लेकिन 1971 के चुनाव में यह भ्रम टूट गया। पांचवीं लोकसभा के इस चुनाव में प्रदेश में 46.01 प्रतिशत वोट ही पड़े। वर्ष 1977 में पूरे देश में कांग्रेस नेता इन्दिरा गांधी और कांग्रेस के खिलाफ लहर चल रही थी। जनता इमरजेन्सी लगने से उद्वेलित थी, तब भी 56.45 फीसदी मतदाताओं ने वोट दिया और उप्र में सबसे अधिक वोट प्रतिशत का रिकार्ड बना। इसके बाद नौ लोस चुनाव हो चुके हैं, लेकिन अब तक यह रिकॉर्ड टूट नहीं पाया है।

वर्ष 1980 के चुनाव में फिर वोट प्रतिशत गिर कर 49.96 पहुंच गया। तत्कालीन प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की हत्या के बाद उपजी सहानुभूति लहर के दौर में 1984 में हुए चुनाव में फिर जनता ने उत्साह दिखाया और 55.75 फीसदी मतदान हुआ। इसके बाद के तीन चुनावों में मतदाता का उत्साह ठंडा होता दिखा।

वर्ष 1989 में 51.27 फीसदी, 1991 में 49.24 फीसदी और 1996 में 46.50 फीसदी मतदाताओं ने सरकार चुनने में रुचि दिखायी। 1998 और 1999 में वोट प्रतिशत में सुधार हुआ तो लगा कि लोगों में लोकतंत्र के प्रति आस्था बढ़ी है, लेकिन 2004 के चुनाव में फिर यह भ्रम टूट गया।

उत्तर प्रदेश की जनता में अपने मताधिकार को लेकर जागरूकता बढ़ने के बजाय घटती लग रही है। 2004 में वोट प्रतिशत 48.15 रहा। मतदाताओं को जागरूक करने के लिए सरकारी स्तर पर खूब अभियान चले, लेकिन 2009 में वोट प्रतिशत और घट गया। मात्र 47.78 फीसदी मतदाता ही वोट डालने पहुंचे।


Check Also

हाथरस काण्ड : चारों आरोपियों से पूछताछ करने के लिए CBI की टीम जिला कारागार पहुंची

हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र की बिटिया के प्रकरण में सीबीआई की टीम द्वारा लगातार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *