Home >> Exclusive News >> कलाम को श्रद्धांजलि के बाद यूपी विधानसभा दो दिन के लिए स्थगित

कलाम को श्रद्धांजलि के बाद यूपी विधानसभा दो दिन के लिए स्थगित


लखनऊ,(एजेंसी)14 अगस्त। देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को श्रद्धांजलि के बाद प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र दो दिन के लिए स्थगित कर दिया गया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ सदन में सभी दल के नेताओं ने एपीजे कलाम को श्रद्धांजलि दी। भाजपा ने सदन में प्रदेश में किसी नये संस्थान को डॉ. कलाम के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा। सदन की अगली कार्यवाही 17 अगस्त को दिन में 11 बजे से शुरू होगी।

14_08_2015-up-assembly

इस अवसर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सदन में कहा कि पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने देश के अन्य राज्यों के साथ ही उत्तर प्रदेश की तरक्की के भी ख्वाब देखे थे। कलाम का जीवन सादगी से भरा था। वह एक बेहद गरीब परिवार से निकल कर आए और विज्ञान के शीर्ष पर पहुंचे थे। उन्होंने बेहद गरीबी में अपना जीवन बिताया। उन्होंने अखबार बेचने के साथ ही दुकान चलाकर ऊंचाई तय की। देश के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपति के रूप में कलाम को हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कलाम सैफई आए थे। हमारा उनसे दिली जुड़ाव था। उनको नेताजी भी बेहद प्यार करते थे। राष्ट्रपति बनने के बाद मैं उनसे पहली बार दिल्ली में मिला था।

अखिलेश यादव ने कहा कि कलाम महान व्यक्ति थे, ऐसे लोग कभी-कभी आते हैं। सभी को कलाम कहते थे की सूरज जैसा बनना है। कलाम हमेशा से ही स्वच्छ पेयजल तथा ग्रामीण नेतृत्व चाहते थे। वह उत्तर प्रदेश की सपा सरकार के काम से काफी खुश थे। मेरे अनुरोध पर कन्नौज में कई कार्यक्रम में पधारे थे। इससे पहले विधानसभा में सीएम अखिलेश ने दिवंगत राष्ट्रपति अब्दुल कलाम श्रद्धांजलि दी।

मानसून सत्र में कड़ी रहेगी सुरक्षा
विधानसभा के मानसून सत्र में इस बार सुरक्षा काफी कड़ी रहेगी। सुरक्षा एजेंसियों को इसके लिए खास हिदायत दी गई है। विधानसभा सत्र के दौरान प्रवेश को लेकर विशेष सतर्कता बरती जायेगी। अधिकृत लोगों के अलावा किसी भी व्यक्ति को विधानसभा में प्रवेश नहीं मिलेगा। परिसर के चारो ओर एटीएस कमांडों की नजर रहेगी। कल विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय की अध्यक्षता में संपन्न हुई बैठक में प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पंडा ने विधानसभा सुरक्षा की समीक्षा की। माननीयों के प्रवेश, वाहनों की पार्किंग और अन्य 15 बिन्दुओं पर चर्चा के बाद इसपर जोर दिया गया कि सभी प्रवेश द्वार पर अनुभवी सुरक्षाकर्मी तैनात हों और किसी भी अनधिकृत व्यक्ति को प्रवेश न मिले।

अभिसूचना की टीम भी तैनात की जायेगी। मुख्यालय से लखनऊ पुलिस को सुरक्षा और जांच के आधुनिक उपकरण भी मुहैया कराये गये हैं। बैठक में शामिल लखनऊ के कमिश्नर और आइजी ने बताया कि सुरक्षा के मुकम्मल इंतजाम कर लिए गए हैं। पुलिस महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था ए. सतीश गणेश ने बताया कि सत्र की सुरक्षा के मद्देनजर लखनऊ पुलिस को मुख्यालय से फोर्स मुहैया करायी गयी है। पांच कंपनी पीएसी के अलावा तीन एएसपी और पांच डीएसपी दिए गए हैं।


Check Also

योगी सरकार ने किया बड़ा ऐलान ‘हर कमिश्नरी पर बनेगी लैब’…

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार यानी 22 जनवरी  2020 को कानपुर जा पहुंचे है. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *