Wednesday , 22 January 2020
Home >> Exclusive News >> 72 घंटे में जले ट्रांसफार्मर नहीं बदलने पर 7 एसडीओ निलंबित

72 घंटे में जले ट्रांसफार्मर नहीं बदलने पर 7 एसडीओ निलंबित


लखनऊ,(एजेंसी)24 अगस्त। निर्धारित ७२ घंटे में जले व खराब ट्रांसफार्मर नहीं बदले जाने के आरोप में पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक अजय कुमार सिंह ने सात उपखंड अधिकारियों (एसडीओ) को रविवार को निलंबित कर दिया। इसी कड़ी में इसके लिए जिम्मेदार छह अधीक्षण अभियंता व छह अधिशासी अभियंताओं को प्रतिकूल प्रविष्टि भी दी गई। एमडी ने कहा कि अब इस तरह की लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाह अभियंता बख्शे नहीं जाएंगे।

23_08_2015-suspend

निलंबित किए जाने वाले अधिकारियों में एसडीओ रामकुमार कुशवाहा (विद्युत वितरण खंड-प्रथम जौनपुर), अतुल रघुवंशी (विद्युत वितरण खंड-प्रथम मीरजापुर), अभिषेक कुमार (विद्युत वितरण खंड-प्रथम मीरजापुर), राजबहादुर मौर्या (विद्युत वितरण खंड-द्वितीय, फतेहपुर), पतिराम (विद्युत वितरण खंड द्वितीय गोरखपुर), मनीष कुमार निषाद (विद्युत वितरण खंड-प्रथम, आजमगढ़) व अरविंद सिंह (विद्युत वितरण खंड-संतकबीर नगर) शामिल हैं।

जिन अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई, उनमें अधिशासी अभियंता अशोक कुमार मिश्रा (विद्युत वितरण खंड-प्रथम जौनपुर), विनोद कुमार गुप्ता (विद्युत वितरण खंड-प्रथम मीरजापुर), विवेक कुमार सिंह (विद्युत वितरण खंड-द्वितीय फतेहपुर), धीरज सिन्हा (विद्युत वितरण खंड-द्वितीय गोरखपुर), ओमप्रकाश राम (विद्युत वितरण खंड-प्रथम, आजमगढ़), सुबोध कुमार (विद्युत वितरण खंड-संतकबीर नगर) और अधीक्षण अभियंता रवींद्रनाथ सिंह (विद्युत वितरण मंडल-जौनपुर), रत्नेश कुमार (विद्युत वितरण मंडल फतेहपुर), अरुण कुमार मिश्रा (विद्युत वितरण मंडल- मीरजापुर), अजय कुमार श्रीवास्तव (विद्युत वितरण मंडल, गोरखपुर), धनंजय कुमार सिंह (विद्युत वितरण मंडल, आजमगढ़), संजय कुमार सिन्हा (विद्युत वितरण मंडल, बस्ती) शामिल हैं।

७२ घंटे में अवश्य बदल दें क्षतिग्र्रस्त ट्रांसफार्मर
प्रबंध निदेशक ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर को ७२ घंटे के अंदर अवश्य बदल दिया जाए, ताकि किसानों व आम उपभोक्ताओं को अच्छी विद्युत आपूर्ति की जा सके।


Check Also

लखनऊ में विपक्ष पर बरसने लगे अमित शाह, भ्रम फैला देश तोड़ने का काम कर रहे लोग…

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का देश के अलग-अलग इलाकों में विरोध जारी है. केंद्रीय गृह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *