Home >> Breaking News >> विदेशी कंपनियों से झूठा प्रचार करवा रहे मोदी : अखिलेश

विदेशी कंपनियों से झूठा प्रचार करवा रहे मोदी : अखिलेश


Akhilesh-Yadav-Pardaphash-91069

लखनऊ,एजेंसी-31 मार्च | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए सोमवार को कहा को कहा कि मोदी और भाजपा 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम खर्च करके विदेशी कंपनियों से झूठा प्रचार करवा रहे हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करके हुए अखिलेश यादव ने कहा कि विकास के नाम पर झूठा प्रचार कर रहे मोदी सांप्रदायिकता के रास्ते दिल्ली की सत्ता पर कब्जा करना चाहते हैं। वे इस मंसूबे में पूरे नहीं होंगे।

यादव ने कहा कि विकास को लेकर झूठा प्रचार कर लोगों को गुमराह करने के लिए करने के लिए मोदी और उनकी पार्टी 1000 करोड़ से ज्यादा पैसे खर्च कर रही है। इसमें विदेशी कंपनियों की मदद ली जा रही है।

उन्होंने कहा, “आप सभी लोग ये बात जानते हैं। अगर मेरी बात झूठ निकले तो मैं इसके लिए माफी मांग लूंगा।”

यादव ने कहा कि जिस तरह की कल्याणकारी और विकास योजनाएं उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार चला रही है वैसी गुजरात या किसी और राज्य में नहीं है।

अखिलेश ने कहा, “हमारी सरकार ने एक साल में 15 लाख छात्रों को लैपटॉप बांटे। मोदी को इतने लैपटॉप गुजरात में बांटने के लिए 5 साल से ज्यादा समय लगेगा। उन्होंने लैपटॉप वितरण योजना को समाजवादी और धर्मनिरपेक्ष बताया।”

मुजफ्फरनगर दंगों के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अखिलेश सरकार को जिम्मेदार ठहराया गया है।

अखिलेश ने कहा, “मुझे और मरी पार्टी को दंगे का बहुत दुख है। ये दुर्भाग्यपूर्ण था। दंगे की जितनी निंदा की जाए कम है। ये नहीं होने चाहिए थे।”

उन्होंने कहा, “दंगे के बाद हमारी सरकार ने लोगों को बहुत मदद की। सरकारी नौकरी के साथ 15 लाख रुपये दिए। सर्वोच्च न्यायालय ने और मदद करने को कहा है। सरकार निर्देशानुसार पीड़ितों की पूरी मदद करेगी।”

अखिलेश ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस की नीतियां एक जैसी हैं। दोनों पार्टियां गरीब और आम लोगों के खिलाफ हैं। अब देश को समाजवादी नीतियों की जरूरत है।


Check Also

असम सरकार ने आपके जीवन की सबसे बड़ी चिंता दूर की है : PM मोदी

शिवसागर को हमारी सरकार द्वारा भारत के पांच सबसे प्रतिष्ठित पुरातात्विक स्थलों में से एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *