Home >> Breaking News >> वंशवादी शासन के अंत का समय आया : मोदी

वंशवादी शासन के अंत का समय आया : मोदी


modi

पलामू/कोडरमा/नवादा/बक्सर (बिहार), एजेंसी,3 अप्रैल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को वंशवादी राजनीति को खत्म करने का आह्वान किया और कहा कि भारतीय लोकतंत्र में इसके लिए कोई जगह नहीं है।

भारत विजय रैली श्रंखला के तहत बिहार और झारखंड में चार सभाओं में गुजरात के मुख्यमंत्री ने कांग्रेस नीत सरकार पर विदेशी बैंकों में जमा काला धन वापस नहीं लाने के लिए हमला बोला।

झारखंड के पलामू में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ”कांग्रेस मां-बेटे की, समाजवादी पार्टी बाप-बेटे और पुत्रवधु की, राष्ट्रीय जनता दल पति-पत्नी की, झारखंड मुक्ति मोर्चा बाप-बेटे की पार्टी है।”

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में वंशवाद की कोई अहमियत नहीं है।

अभ्रक खान वाला जिला कोडरमा में उन्होंने कहा कि राज्य का संसाधन लूटा जा रहा है। झारखंड के लोग इसलिए त्रस्त हो रहे हैं कि यहां का संसाधन लूटा जा रहा है।

इससे पहले बिहार के बक्सर में मोदी ने एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस चुनाव में कोई राजनीतिक दल लहीं लड़ रहा है बल्कि पूरा देश लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में देश की जनता परिवर्तन के साथ-साथ देश को तबाह करने वालों को सजा देने के मूड में है।

केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा, ”देश के आजादी के 60 वर्ष हो गए। जवानी जेल में खपाने वाले लोग, फांसी पर चढ़ने वाले लोगों के सपने आज भी पूरे नहीं हुए है। हम ऐसा हिन्दुस्तान उनके चरणों में दें जिससे उनका सपना साकार हो।”

मोदी ने लाल बहादुर शास्त्री के नारे ‘जय-जवान जय -किसान’ की चर्चा करते हुए कहा कि आज जितने जवान युद्घ में नहीं शहीद होते उससे ज्यादा आतंकवादियों की गोली से शहीद हो रहे हैं। देश की रक्षा करने वाले ही सुरक्षित नहीं हैं।

किसानों की स्थिति पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि अच्छी फसल हो तब भी किसान मरता है और जब कम पैदावार हो तब भी किसान मरता है। उन्होंने कहा कि भाजपा की आने वाली सरकार किसानों और गांवों का भला करना चाहती है क्योंकि किसान और गांव में सुधार के बिना देश की स्थिति में सुधार नहीं हो सकता है।

यहां से पहले बिहार के नवादा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने भाजपा के प्रत्याशी गिरिराज सिंह को विजयी बनाने की अपील करते हुए कहा कि पूरे देश में बदलाव की जो आंधी चल रही है वह सबसे जबरदस्त बिहार में चल रही है। उन्होंने कहा कि बिहार अब संकट के दौर से बाहर आना चाहता है।

उन्होंने कहा कि देश को अब शासक नहीं सेवक चाहिए। उन्होंने कहा कि देश को तबाह करने वालों को आपलोगों ने 60 वर्ष दिए हैं, सेवा करने वाले को केवल 60 महीने दीजिए।

केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार को न श्वेत क्रांति चाहिए और न ही हरित क्रांति चाहिए उसे गुलाबी क्रांति चाहिए। उन्होंने पशु हत्या के लिए केन्द्र सरकार को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि सरकार में बैठे लोगों को देश की परंपरा से कोई मतलब नहीं है।

मोदी ने कहा कि आज गो-पालकों को सब्सिडी नहीं दी जाती है परंतु कत्लखाने के लिए सब्सिडी दी जाती है। उन्होंने लालू प्रसाद और मुलायम सिंह से भी प्रश्न किया कि क्या वे गुलाबी क्रांति लाने वाले का समर्थन करना चाहते हैं।

उन्होंने कांग्रेस द्वारा जारी किए गए घोषणा पत्र को धोखा पत्र बताते हुए कहा कि वर्ष 2009 में भी कांग्रेस ने 10 करोड़ बेरोजगार युवकों को रोजगार देने का वायदा किया था, और आज फिर वही वादा किया जा रहा है।

उन्होंने अपने संबोधन में गुजरात को द्वारिका नगरी की चर्चा करते हुए कहा कि वे द्वारिका नगरी से आए हैं जिन्हें यदुवंश से गहरा नाता है, ऐसे में अपनापन होना स्वभाविक है।


Check Also

चीन सीमा पर बार-बार द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना कर रहा है: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह चीन द्वारा की गई कार्रवाई हमारे विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *