Wednesday , 27 January 2021
Home >> Breaking News >> लोकसभा चुनाव का पहला दौर : असम और त्रिपुरा में मतदान जारी

लोकसभा चुनाव का पहला दौर : असम और त्रिपुरा में मतदान जारी


Votes

नई दिल्ली,एजेंसी-7 अप्रैल। असम की पांच लोकसभा सीटों पर दो केंद्रीय मंत्रियों सहित 51 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला हो रहा है। वहां मतदान जारी है। वहां कड़ी सुरक्षा के बीच 64 लाख 41 हजार 634 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं।
प्रथम चरण के चुनाव में तेजपुर, कोलियाबोर, जोरहट, डिब्रूगढ़ और लखीमपुर सीटों से कांग्रेस, बीजेपी, एआईयूडीएफ, एजीपी, तृणमूल कांग्रेस, आप, एसयूसीआई, माकपा, एआईएफबी और सपा चुनाव लड़ रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री रानी नाराह और पवन सिंह घाटोवार, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं निवर्तमान सांसद बिजॉय कृष्ण हांडिक, मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के बेटे गौरव गोगोई और भूपेन कुमार बोरा चुनाव लड़ने वाले 51 उम्मीदवारों में शामिल हैं।

कांग्रेस के बागी नेता मणि कुमार सुब्बा फिलहाल दिल्ली की अस्पताल में भर्ती हैं और वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं बीजेपी, की तरफ से इसकी राज्य इकाई के अध्यक्ष सोरबानंद सोनोवाल और चाय कामगार नेता कामख्या प्रसाद तासा भी मैदान में हैं जबकि असम गण परिषद् के नामितों में अरूण कुमार शर्मा, प्रदीप हजारिका और जोसेफ टोप्पो शामिल हैं। 8588 मतदान केंद्रों पर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि चुनावों के लिए सुरक्षा के मानक कड़े कर दिए गए हैं और सीआरपीएफ सहित सुरक्षा बलों की अतिरिक्त कंपनियों को पांच क्षेत्रों में तैनात किया गया है। इसके अलावा दो हेलीकॉप्टर को स्टैंड बाय पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में 235 कंपनी सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है, जिनमें राज्य और केंद्र दोनों के सुरक्षा बल शामिल हैं।

असम के पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) एसएन सिंह ने बताया कि 3000 मतदान केंद्रों की पहचान चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के मुताबिक ‘संवेदनशील’ के रूप में की गई है। चुनाव अधिकारी पांचों संसदीय क्षेत्रों में अपने जिला मुख्यालय से आज सुबह से ही अपने गंतव्य की तरफ छोटे-बड़े वाहनों, देशी नौकाओं, बैलगाड़ियों, हाथ से खींची जाने वाली गाड़ियों में रवाना हो गए हैं।

असम-नगालैंड की सीमा के पास डिब्रूगढ़, जोरहट और कोलियाबोरा संसदीय क्षेत्रों में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है, क्योंकि पूरे सीमावर्ती इलाके को अति संवेदनशील घोषित किया गया है। पूर्वोत्तर क्षेत्र में पहली बार और कश्मीर एवं बिहार के बाद देश में तीसरी बार राज्य में सभी मतदान केंद्रों को धूम्रपान रहित क्षेत्र घोषित किया गया है। अगले चरण का लोकसभा चुनाव तीन सीटों के लिए 12 अप्रैल को होगा।

2014 लोकसभा चुनाव : प्रमुख तथ्य

– कुल मतदाता संख्या : 81.4 करोड़ (81,45,91,184)

– पुरुष मतदाता : 42.6 करोड़ (42,66,15,513)

– महिला मतदाता : 38.7 करोड़ (38,79,11,330)

– अन्य मतदाता : 28,341

– पहली बार मतदान करने वाले मतदाता : 2.3 करोड़ (2,31,61,296)

– मतदान केंद्रों की संख्या : 9,30,000

– 80 लाख नागरिकों और 30 लाख सुरक्षा कर्मियों की तैनाती

– नोटा (उपर्युक्त में से कोई नहीं) विकल्प का पहली बार संसदीय चुनाव में प्रयोग

– भारत नोटा का उपयोग करने वाला 12वां देश

– एक मतदाता सिर्फ एक स्थान पर पंजीकृत हो सकता है।

– एक व्यक्ति असम स्वायत्त जिला, लक्षद्वीप और सिक्किम को छोड़कर देश में और कहीं से भी चुनाव लड़ सकता है।


Check Also

हिंदू ग्रंथों में पौष पूर्णिमा के दिन दान, स्नान और सूर्य देव को अर्घ्य देने विशेष महत्व बताया गया है : धर्म

पौष माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को पौष पूर्णिमा कहते हैं. हिंदू धर्म में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *