Home >> Breaking News >> मोदी ने पहली बार जशोदाबेन को अपनी पत्नी माना

मोदी ने पहली बार जशोदाबेन को अपनी पत्नी माना


Modi

अहमदाबाद,एजेंसी-10 अप्रैल। भाजपा के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में किए गए अपने नामांकन में में माना है कि वह शादी शुदा हैं। हलफनामे में इस बात का जिक्र किया गया है कि उनकी शादी करीब 45 वर्ष पहले जशोदाबेन से हुई थी। मोदी के इस कबूलनामे के बाद उनके वैवाहिक जीवन पर चल रहा सस्पेंस भी खत्म हो गया। वडोदरा के कलेक्टर विनोद राव ने भी इसकी पुष्टि की।
मोदी के इस हलफनामे में हुए खुलासे से कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने खुशी जताई है। साथ ही उन्होंने मोदी पर सवाल भी दागा कि आखिर क्या वजह थी कि उन्होंने इतने वर्षो तक वह इस सच को सामने नहीं लाए। यह पूछने पर कि उनके पिछले चुनावों में इस कॉलम को खाली छोड़ने पर भविष्य में कोई अड़चन आ सकती है। उनका कहना था कि मोदी झूठ बोलने में माहिर हैं। अब तक वह झूठ बोलते आए हैं आगे भी ऐसा ही करेंगे। हालांकि उन्होंने यह जरूर माना कि इससे उनके मंसूबों में अड़चन भी जरूर आएगी।
नरेंद्र मोदी ने वड़ोदरा लोकसभा सीट से बुधवार को नामांकन किया था। इस दौरान मोदी ने वड़ोदरा को अपनी कर्मभूमि बताया। भाजपा के प्रत्याशी के तौर पर मोदी का नाम घोषित होने के बाद वह पहली बार यहां पर पहुंचे थे। नामांकन के दौरान उनके साथ गायकवाड राजघराने की राजमाता और एक चाय वाले किरण महिदा ने उनके नामांकन पर साइन किए।
गौरतलब है कि चुनाव आयोग के नियमों के तहत प्रत्याशी को अपने हलफनामे में अपनी शिक्षा, आपराधिक इतिहास, अपनी और घरवालों (पत्नी-बच्चों) की संपत्ति का ब्योरा देना होता है। इससे पहले मोदी ने वर्ष 2001, 2002, 2007 और 2012 के दौरान दायर अपने हलफनामे में अपनी पत्नी के बारे में जानकारी देने वाले को कॉलम को खाली छोड़ दिया था।


Check Also

दिल्ली के लोगों की बढ़ी मुश्किलें, तेज हुई जहरीली हवाएं

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर अचानक से बढ़ गया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *