Home >> Breaking News >> लोकसभा चुनाव- असम, सिक्किम, त्रिपुरा और गोवा में मतदान जारी

लोकसभा चुनाव- असम, सिक्किम, त्रिपुरा और गोवा में मतदान जारी


voting
नई दिल्ली,एजेंसी-12 अप्रैल। गोवा तथा पूर्वोत्तर के तीन राज्यों की 7 सीटों के लिए आज मतदान हो रहा है। गोवा की दो लोकसभा सीटों उत्तर गोवा तथा दक्षिण गोवा के लिए भी आज मतदान हो रहा है। गोवा में कुल 10,53,499 मतदाता हैं। पहले चरण में असम की 14 में से तीन सीटों के लिए मतदान सात अप्रैल को हो चुका है। आज तीन सीटों पर मतदान हो रहा है, जिनमें करीमगंज तथा स्वायत्त जिला सुरक्षित सीट के अलावा सिलचर की सामान्य सीट शामिल है। शेष 6 सीटों पर मतदान 24 अप्रैल को होगा। सिक्किम की एकमात्र सीट पर मतदान आज हो रहा है, जबकि त्रिपुरा की दो सीटों में शेष एक सीट त्रिपुरा पूर्व पर भी मतदान आज हो रहा है। यह सुरक्षित सीट है, जबकि त्रिपुरा पश्चिम सीट पर मतदान 7 अप्रैल को हो चुका है।

असम के करीमगंज में असम गण परिषद के रवींद्र नाथ चौधरी, भाजपा के कृष्ण दास और कांग्रेस के ललित मोहन शुक्ल वैद्य तथा आम आदमी के रूण कुमार दास के बीच मुकाबला है। चुनाव मैदान में कुल 15 उम्मीदवार हैं, जिनमें 8 निर्दलीय हैं। स्वायत्त जिले में कुल 5 उम्मीदवार हैं। इनमें कांग्रेस के वीरेन सिंह एंगिल तथा भाजपा के जय राम एंगलेंग के बीच मुकाबला है। एक निर्दलीय उम्मीदवार है।
सिक्किम की एकमात्र सीट के लिये कुल 6 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें कोई भी महिला नहीं है। सिक्किम डेमोक्रेटिव फ्रंट के प्रेम दास राय का मुकाबला भाजपा के नर बहादुर खटिवारा, कांग्रेस के इकार घोल लिम्बू तथा तृणमूल कांग्रेस के नकुल दास राय से है।

त्रिपुरा पश्चिम सीट पर कुल तेरह उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें एक निर्दलीय है। भाजपा के सुधींद्र चंद्र दास गुप्ता, कांग्रेस के अरूणोदय साहा तथा आम आदमी पार्टी के डॉक्टर सलिल साहा एवं तृणमूल के रतन चक्रवर्ती तथा त्रिपुरा प्रगतिशील ग्रामीण कांग्रेस के सुबल भौमिक से है।

उत्तरी गोवा में कुल सात उम्मीदवार हैं। इनमें दो निर्दलीय हैं, जबकि कांग्रेस के रवि नायक का मुकाबला भाजपा के प्रसाद बी नायक से होगा, जबकि आम आदमी के डॉक्टर दत्ताराम देसाई मैदान में हैं। दक्षिण गोवा से कुल 12 उम्मीदवार हैं। इनमें चार निर्दलीय हैं। कांग्रेस के एलेमसो रोगी नालडो लारेंसो का मुकाबला नरेन्द्र केशव सबाई कर से होगा, जबकि आम आदमी की स्वाति एस केलकर मैदान में हैं।
असम
असम के ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट (अजजा) में बंद के बीच आज तीन चरणीय लोकसभा चुनावों के दूसरे चरण का मतदान हो रहा है। मतदान ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट के अंतर्गत आने वाले कारबी अंगलोंग और दीमा हसाओ जिलों, करीमगंज (अजा) और सिलचर में हो रहा है। करीमगंज और सिलचर बराक घाटी में आते हैं।

कारबी पीपुल्स लिबरेशन टाइगर्स ने बीते आठ अप्रैल से अनिश्चितकालीन बंद का आहवान कर रखा है। ये लोग संविधान के अनुच्छेद 244 (ए) के तहत एक अलग स्वायत्त जनजातीय राज्य की मांग कर रहे हैं। सुरक्षा बलों की 17 कंपनियों को निर्वाचन क्षेत्र में तैनात किया गया है। इसके अलावा उग्रवादियों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए हेलीकॉप्टर के जरिए भी निगरानी हो रही है।

तीनों निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 29,26,762 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें 15,26,082 पुरुष, 14,00,594 महिलाएं और 86 अन्य मतदाता हैं। इन निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 3,698 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

करीमगंज (अजा) और सिलचर में कांग्रेस, भाजपा और एआईयूडीएफ के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है, जबकि ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट (अजजा) में सीधा मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच होगा।

करीमगंज (अजा) में मुकाबला दो बार के कांग्रेसी सांसद ललित मोहन शुक्लवैद्य, भाजपा के कृष्णा दास और एआईयूडीएफ के राधेश्याम बिस्वास के बीच है। सिलचर में वर्तमान भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री कबींद्र पुरकायस्थ का मुकाबला कांग्रेसी उम्मीदवार सुष्मिता देव और एआईयूडीएफ के कुतुबुद्दीन अहमद मजूमदार के साथ है। सुष्मिता देव सिल्चर की विधायक और पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष मोहन देव की बेटी हैं।

ऑटोनॉमस डिस्ट्रिक्ट (अजजा) में सीधा मुकाबला चार बार के कांग्रेसी सांसद बीरेन सिंह इंग्ती और भाजपा के जोएराम एंगलेंग के बीच है। तीनों सीटों पर कुल 37 उम्मीदवार चुनावी दौड़ में हैं। इनमें से तीन-तीन उम्मीदवार भाजपा और कांग्रेस के हैं। इसके अलावा दो-दो उम्मीदवार अगप, एआईयूडीएफ, आप, एसयूसीआई (कम्यूनिस्ट) और समाजवादी पार्टी के हैं। एक-एक उम्मीदवार माकपा, भाकपा (माले), तृणमूल कांग्रेस, शिवसेना और झारखंड मुक्ति मोर्चा के हैं। 19 उम्मीदवार निर्दलीय हैं।

करीमगंज (अजा) के 1504 मतदान केंद्रों में से 197 को अत्यधिक संवेदनशील घोषित किया गया है, जबकि 567 मतदान केंद्रों को संवेदनशील माना गया है। बाकी मतदान केंद्र तुलनात्मक रूप से सुरक्षित हैं। सिलचर निर्वाचन क्षेत्र में 1188 मतदान केंद्रों में से 209 को बेहद संवेदनशील माना गया है।
सिक्किम
सिक्किम में आज एकमात्र लोकसभा संसदीय क्षेत्र और 32 विधानसभा सीटों के लिए साथ-साथ मतदान हो रहा है। इस चुनाव में 3,70,731 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे, जिनमें 1,79,650 महिलाएं शामिल हैं।

मतदान के दौरान सुरक्षा के लिए 3,500 पुलिसकर्मियों और पश्चिम बंगाल पुलिस की 15 कंपनियों को तैनात किया गया है। सिक्किम में मतदान के लिए 538 मतदान केन्द्र बनाए गये हैं। यहां की एकमात्र लोकसभा सीट पर चुनाव में एसडीएफ के निवर्तमान सांसद प्रेमदास राय को एसकेएम के टेकनाथ धकाल ने कड़ी टक्कर मिल रही है। इस सीट के लिए भाजपा, कांग्रेस, तृणमूल और आम आदमी पार्टी ने भी अपने प्रत्याशी खड़े किये हैं।

20 साल से निर्बाध रूप से सत्तारूढ़ रहे सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट को इस चुनाव में नवनिर्मित सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा को मिल रहे समर्थन के कारण कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। निवर्तमान विधानसभा में विपक्ष का कोई सदस्य नहीं है। 32 विधानसभा सीटों के लिए 121 प्रत्याशी मैदान में हैं, जबकि लोकसभा सीट के लिए छह प्रत्याशी मैदान में हैं।
त्रिपुरा
त्रिपुरा की त्रिपुरा ईस्ट सीट (अजजा) में लोकसभा के लिए प्रतिनिधि चुनने की खातिर आज मतदान हो रहा है और इसके लिए सभी तैयारियां की जा चुकी हैं। त्रिपुरा ईस्ट सीट (अजजा) पर माकपा, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच बहुकोणीय मुकाबला है।

इस चुनाव में 12 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें माकपा की ओर से राज्य के उद्योग मंत्री जितेंद्र चौधरी, कांग्रेस के सचित्र देबबर्मा (जानेमाने शिक्षाविद), भाजपा के पारक्षित देबबर्मा (पूर्व सैनिक) और तृणमूल कांग्रेस से भगुराम रियांग शामिल हैं। अब तक 1952 से 2009 के बीच हुए 15 लोकसभा चुनाव में से माकपा ने 11 बार जीत दर्ज की है और 1996 से इस सीट पर लगातार उसी का कब्जा है।

इस सीट पर कुल मतदाता 11,38,765 हैं, जिनमें 5,80,497 पुरष मतदाता हैं। यहां 1,490 मतदान केंन्द्र बनाए गए हैं, इनमें से 18 अति संवेदनशील और 400 से ज्यादा केंद्र संवेदनशील हैं। चुनाव आयोग द्वारा स्थापित महिला मतदाता केंद्रों की संख्या नौ है।

चुनाव आयोग द्वारा सुरक्षा बलों की 35 अतिरिक्त कंपनियां भेजी गई हैं, जो राज्य पुलिस के साथ तैनात की जाएंगी। सीमा सुरक्षा बल ने भी 856 किलोमीटर लंबी भारत-बंग्लादेश सीमा पर अतिरिक्त बल तैनात किए हैं।
गोवा
गोवा की दो संसदीय सीटों के लिए मतदान आज हो रहा है, जहां 10 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। भारत के निर्वाचन आयोग के अनुसार, राज्य में कुल 10,60,777 मतदाता हैं, जिनमें 5,28,308 पुरुष और 5,32,469 महिला मतदाता हैं। मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा।

नॉर्थ और साउथ गोवा लोकसभा सीटों के लिए चुनाव मैदान में 19 प्रत्याशी हैं, जो कांग्रेस, भाजपा, भाकपा, अन्य क्षेत्रीय दलों से और निर्दलीय हैं। नॉर्थ गोवा सीट से प्रमुख प्रत्याशियों में रवि नाइक (कांग्रेस), भाजपा के वर्तमान सांसद श्रीपाद नाइक और आप के दत्ताराम देसाई हैं। साउथ गोवा सीट से कांग्रेस के अलेक्सियो रेगीनाल्डो लौरेन्को, भाजपा के नरेंद्र सवाईकर और आप की स्वाति केरकर प्रमुख प्रत्याशी हैं।

साउथ गोवा के वर्तमान सांसद फ्रांसिस्को सरदिन्हा (कांग्रेस) को इस बार टिकट नहीं दिया गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की पूरी तरह जांच कर प्रत्येक मतदान केंद्र में भेजा गया है। राज्य में 1,151 मतदान केंद्र हैं, जबकि 1,622 ईवीएम मतदान के लिए तैयार रखी गई हैं।

निर्वाचन अधिकारियों ने 14 मतदान केंद्रों को संवेदनशील और 30 को अति संवेदनशील घोषित किया है, जहां अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी। मतदान प्रतिशत में वृद्धि के लिए जहां चुनाव आयोग ने विशेष जागरुकता अभियान चलाया हुआ है, वहीं महिला मतदाताओं को विशेष प्राथमिकता देने के प्रयास भी किए जा रहे हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि मतदान के दौरान, प्रत्येक पुरुष मतदाता के बाद दो महिला मतदाताओं को उनके मताधिकार का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मत प्रतिशत बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में महिला मतदाताओं को आने की जरूरत को ध्यान में रखते हुए ऐसा पहली बार किया जा रहा है।

अधिकारी के अनुसार, पिछले चुनावों के रिकॉर्ड से संकेत मिलता है कि पुरुषों की तुलना में महिला मतदाता कम संख्या में मतदान केंद्र पहुंचती हैं। इसी तरह मतदान के दौरान निशक्त एवं नेत्रहीन मतदाताओं को भी विशेष महत्व दिया जाएगा। राज्य में 30 नेत्रहीन मतदाता हैं, जिन्हें निर्वाचन आयोग के कार्यालय में ईवीएम के उपयोग का प्रशिक्षण दिया गया है।


Check Also

चीन सीमा पर बार-बार द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना कर रहा है: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह चीन द्वारा की गई कार्रवाई हमारे विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *