Home >> Breaking News >> दो साल में प्रधानमंत्री मोदी ने विदेशों से भारत के लिए कमाई ये 8 उपलब्धियां

दो साल में प्रधानमंत्री मोदी ने विदेशों से भारत के लिए कमाई ये 8 उपलब्धियां


l_PM-Modi-1464232942मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर पीएम मोदी की विदेश यात्राआें को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। केन्द्र सरकार से पूछा जा रहा है कि पीएम की ताबड़तोड़ विदेश यात्राआें से क्या हासिल हुआ? एक बार देखने से लगता भी है कि मोदी ने विदेश यात्राआें के जरिए एेसा क्या हासिल किया है जो उनकी पूर्ववर्ती सरकार हासिल नहीं कर सकी हैं। हालांकि मोदी की विदेश यात्राआें की एेसी बहुत सी उपलब्धियां हैं जिन्हें नकारना उनके विरोधियों के लिए भी मुश्किल होगा। विदेश यात्राआें से हासिल मोदी सरकार की ये हैं कुछ खास उपलब्धियां।

1. ब्रॉडबैंड से जुड़ेंगे 5 लाख गांवगूगल देश के 500 रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई देगा। माइक्रोसॉफ्ट 5 लाख गांवों में ब्रॉडबैंड सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। एप्पल अपना कारखाना भारत में लगाएगा। क्वालकॉम देसी स्टार्टअप्स में 150 मिलियन डॉलर निवेश करेगी।

2. बुलेट ट्रेन में निवेश का वादा

जापान की यात्रा एशिया में चीन के वर्चस्व को चुनौती देने के लिहाज से महत्वपूर्ण। जापान देश के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, बुलेट ट्रेन, गंगा की सफाई आदि में 35 बिलियन अमरीकी डॉलर का निवेश करेगा। जापान ने 6 भारतीय कंपनियों से बैन हटाए।

3. रक्षातंत्र होगा मजबूत

भारत के साथ रूस कामोव 226 लाइट हेलिकॉप्टर का निर्माण करेगा। रूस के सहयोग से देश में सुखोई स्टील्थ फाइटर प्लेन निर्माण पर सहमति बनने के आसार।

4. विवाद सुलझाने का प्रयास

सीमा विवाद खत्म करने, सामरिक महत्व व आपसी व्यापार बढ़ाने पर सहमति बनी। चीन के साथ 22 बिलियन डॉलर के 21 समझौतों पर हस्ताक्षर।

5. संबंधों को मधुर बनाने की कवायद

ऑस्ट्रेलियाई संसद की संयुक्त सभा को संबोधित किया। 2009 से भारतीय छात्रों पर हो रहे हमलों से संबंधों में उपजे कड़वाहट कम हुए। सिडनी के ओलफोंस एरिना में 16 हजार भारतीयों को संबोधित किया। कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए।

6. मंदिर निर्माण के लिए मिली जमीन

आतंकवाद से मिलकर निपटने पर सहमति। यूएई 75 बिलियन अमरीकी डॉलर का निवेश भारत में रेलवे, रोड एयरपोर्ट, इंडस्ट्रियल कॉरीडोर आदि विकसित करने में करेगा। साथ ही संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने मंदिर बनाने के लिए जमीन दी।

7.   13.7 बिलियन डॉलर का निवेश

दोनों देशों के बीच आपसी व्यापार, सिविल न्यूक्लियर कॉपरेशन, ऊर्जा, हैल्थकेयर व शिक्षा संबंधी कई अहम समझौते हुए। भारत में 13.7 बिलियन डॉलर  निवेश करेगा ब्रिटेन। यूएन सिक्योरिटी काउंसिल में स्थायी सदस्यता के लिए भारत की पैरवी करेगा।

8. वर्ल्ड बैंक का विकल्प ब्रिक्स बैंक

ब्रिक्स स मेलन में विश्व बैंक के विकल्प के रूप में ब्रिक्स बैंक की स्थापना। मोदी की जोरदार पहल पर बैंक के पहले अध्यक्ष बने के. वी. कामत। सदस्य देशों की बराबर भागीदारी के लिए चीन को मनाया। भारत-ब्राजील के बीच 3 अहम समझौते हुए।

 
 

Check Also

कोरोना संक्रमण के लक्षण होने पर परिवार ने डॉक्टर से ले ली दवा ! एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत, 5 की हालत नाज़ुक

 छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत होने की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *