Home >> Health Tips >> कितना स्वास्थवर्धक है स्त्रियों का मास्टरबेशन करना?

कितना स्वास्थवर्धक है स्त्रियों का मास्टरबेशन करना?


267055-female-orgasm_5746107e82f4bकई स्त्रियां मैथुन के लिए एक समय सेट कर लेती हैं, यदि उस दौरान उन्‍हें अकेलापन नहीं मिलता तो उन्‍हें तनाव होने लगता है और गुस्‍सा आने लगता है. ऐसे में अन्‍य लोगों से झगड़े की संभावना बढ़ जाती है. 

हीमेच्‍यूरिया स्त्रियों में पायी जाने वाली वह बीमारी है, जिसमें यूरीन में ब्‍लड आने लगता है. यूरीन गाढ़ी हो जाती है और उसमें से गंध आने लगती है. गुप्‍त रोग विशेषज्ञों के मुताबिक मैथुन की वजह से इस बीमारी के लगने की आशंका बढ़ जाती है. इससे काफी कमजोरी भी आती है और खून की कमी हो जाती है. 

जरूरत से ज्‍यादा मैथुन करने से पीरियड, मासिक धर्म अथवा मेंसुरेशन साइकिल में समस्‍याएं उत्‍पन्‍न होने लगती हैं. इस वजह से गुप्‍तांग में सूखापन आ जाता है और वहां खुजली एवं दर्द होता है. यही नहीं इससे आगे चलकर बच्‍चा होने में भी दिक्‍कत होती है.

अंत में सबसे अहम बात यह कि मैथुन से महिलाओं में यौन इच्‍छाएं कम होने लगती हैं. ऐसा करने पर उन्‍हें संभोग में ज्‍यादा मजा नहीं आता और फिर उन्‍हें सेक्‍स की चरम सीमा तक पहुंचने में दिक्‍कत होती है


Check Also

आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हैं बनाना शेक

अधिकतर लोग नाश्ते में बनाना शेक पीना पसंद करते हैं. कई स्वास्थ्य विशेषज्ञ यह सलाह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *