Home >> Exclusive News >> जाट आरक्षण आंदोलन के तहत हिंसा होने से भाजपा सरकार और अधिकारी पूरी तरह से जवाबदार

जाट आरक्षण आंदोलन के तहत हिंसा होने से भाजपा सरकार और अधिकारी पूरी तरह से जवाबदार


Chautala-dushyanta_57529cc746effएजेंसी/ करनाल : इनेलो के युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने जाट आरक्षण को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है। इस दौरान उन्होंने कहा है कि उनकी छवि खराब करने के लिए प्रकाश सिंह की रिपोर्ट में उन्हें कोट किया गया है। उनका कहना था कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार के शासन में हरियाणा के लोग दहशत में नज़र आ रहे हैं। भाजपा सरकार पुलिस का बल दिखाकर लोगों को डराने का कार्य कर रही है। मुरथल और अन्य स्थानों पर अर्द्धसैनिक बलों को नियुक्त कर दिया गया है।

यहां माहौल खराब करने का कार्य ही किया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार जाट आरक्षण आंदोलन के तहत हिंसा होने से भाजपा सरकार और अधिकारी पूरी तरह से जवाबदार हैं। सरकार के पास हिंसा का सामना करने में इसलिए अक्षम रही है क्योंकि उसका सामना करने के लिए उनके पास कोई योजना नहीं थी। भाजपा नेताओं द्वारा भड़काऊ भाषण देकर हिंसा की आग में घी डालने का कार्य भी किया गया।

सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस मामले में कहा कि यदि सरकार के पास किसी भी तरह के ठोस सबूत हैं तो वे उसे सामने लाऐं। वे अपना इस्तीफा दे देंगे। दुष्यंत चौटाला द्वारा कहा गया कि जाट आंदोलन हिंसक होने के पीछे प्रदेश का मुख्यमंत्री जवाबदार बताया जा रहा है। दरअसल प्रकाश सिंह कमेटी ने उन्हें क्लीन चिट दे दी है। सांसद दुष्यंत चौटाला द्वारा कहा गया कि सुभाषचंद्रा ने राज्यसभा सांसद के तौर पर नामांकन दाखिल कर दिया गया है। दरअसल प्रत्याशी आजाद हैं लेकिन भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री उनके नॉमिनेशन में जाते हैं। वे केवल सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ रहे।


Check Also

26 दिन बाद कोरोना की रफ्तार में लगी ब्रेक, लेकिन मौत का तांडव जारी…

कोरोना की दूसरी लहर में रोजाना सामने आने वाले नए मामलों में बीत कुछ दिनों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *