Home >> Breaking News >> राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का आज लोकसभा में जवाब देंगे पीएम

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का आज लोकसभा में जवाब देंगे पीएम


Modi in Parliament
नई दिल्ली,एजेंसी-11 जून। 16वीं लोकसभा के पहले विशेष सत्र का बुधवार को अंतिम दिन है और आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देंगे। पहले वह लोकसभा में चार बजे फिर राज्यसभा में पांच बजे अपनी बात रखेंगे।
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को संसद के दोनों सदनों के साझा सत्र को संबोधित किया था। इससे बाद मंगलवार को अभिभाषण पर सरकार की तरफ से लोकसभा में राजीव प्रताप रूड़ी व राज्यसभा में मुख्तार अब्बास नकवी ने शुरुआत की। इसके बाद विपक्ष ने मोदी सरकार को दोनों सदनों में जोरदार ढंग से घेरा। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भाजपा से दो टूक कह दिया, ‘कौरवों की संख्या चाहे जितनी ज्यादा हो, पांडव दबने वाले नहीं।’ राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने मोदी सरकार में सोच का अभाव बताते हुए कहा, उनकी ज्यादातर घोषणाएं संप्रग सरकार के फ्लैगशिप कार्यक्रमों की नकल भर हैं।
सत्ता में लौटने का विश्वास जताते हुए लोकसभा में मल्लिकाजरुन खड़गे ने सत्तारूढ़ दल से कहा, यह स्थायी नहीं है। भाजपा की मार्केटिंग अच्छी है, लेकिन इससे देश चलाना और गरीबों का पेट भरना संभव नहीं है। सरकार को जनादेश का अहंकार छोड़कर वायदे पूरा करने में जुट जाना चाहिए। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद बोले, जनता जनादेश, कुर्सी व पैसा स्थायी तौर पर नहीं देती है। ‘सबका साथ सबका विकास’ का नारा तो संप्रग सरकार में मनमोहन सिंह के ‘इंक्लूसिव ग्रोथ’ का हिंदी अनुवाद भर है। आजाद ने पक्का मकान, पेयजल, स्वच्छता, देहात के सभी घरों को बिजली समेत अन्य एजेंडे गिनाए। मिनीमम गवर्नमेंट-मैक्सिमम गवनर्ेंस के मोदी के नारे पर चुटीले अंदाज में कहा, दुनिया के कुछ मुल्कों में यह चलता है जहां एक ही व्यक्ति शासन करता है, यह प्रयोग यहां संभव नहीं। सरकार के गरीबी मिटाओ के नारे पर कहा, 65 साल में तो यह संभव नहीं हो पाया। मोदी सरकार चंद दिन में पूरा करने का दावा कर रही है। ऐसा कर लिया तो समूचा विपक्ष उसे स्वर्ण पदक देगा। अल्पसंख्यकों पर अभिभाषण में जिक्त्र पर कहा, कहीं ये दांत हाथी के तो नहीं है, जो खाने के और दिखाने के और हैं। अगर सच में हृदय परिवर्तन हुआ है तो हम बधाई देते हैं।


Check Also

सामरिक अभियान भारत की ताकत हुई दोगुनी भारतीय नौसेना को मिला युद्धपोत INS कावारत्ती

भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने गुरुवार को विशाखापत्तनम में भारतीय नौसेना को पनडुब्बी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *