Home >> Breaking News >> हॉकी विश्व कप : नौवें स्थान के लिए कोरिया से भिड़ेगा भारत

हॉकी विश्व कप : नौवें स्थान के लिए कोरिया से भिड़ेगा भारत


Hockey

द हेग (नीदरलैंड),13 जून। भारतीय टीम यहां चल रहे पुरुष हॉकी विश्व कप में नौवें स्थान के लिए खेले जाने वाले प्ले ऑफ मुकाबले में एशियाई चैम्पियन दक्षिण कोरिया की चुनौती से पार पाना चाहेगी। भारतीय टीम 2010 में नई दिल्ली में हुए पिछले विश्व कप में हासिल किए गए अपने आठवें स्थान में सुधार करने में असफल रही।
दक्षिण कोरिया को ग्रुप बी में 2012 ओलंपिक चैम्पियन जर्मनी से अंतिम लीग मैच में 1-6 से शिकस्त का मुंह देखना पड़ा जिससे वह पांचवें स्थान पर रही। उसे चार शिकस्त झेलनी पड़ी और उसने दक्षिण अफ्रीका से ड्रॉ से महज एक अंक हासिल किया। दक्षिण अफ्रीकी टीम पूल में निचले स्थान पर रही।
पहले दो मैचों में अंत में गोल गंवाकर शिकस्त झेलने वाली भारतीय टीम ग्रुप ए में पांचवें स्थान पर रेलीगेट हो गई। टीम ने पांच मुकाबलों में से एक में जीत दर्ज की जबकि एक ड्रॉ में खेला। भारत ने इंग्लैंड से 69वें मिनट में मैच विजेता गोल गंवाया था। अब इंग्लैंड की टीम बीती रात बेल्जियम पर 3-2 की जीत से सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही।
भारतीय टीम एशिया कप फाइनल में कोरिया से मिली हार का बदला चुकता करना चाहेगी और सुनिश्चित करने की कोशिश करेगी कि वे 2010 विश्व कप के बाद केवल एक स्थान ही नीचे रहे। भारत की तरह कोरिया को भी शुरुआती लीग मुकाबलों में अंत में गोल गंवाने का खामियाजा भुगतना पड़ा।

दक्षिण कोरिया के खिलाफ होने वाले मुकाबले से पहले भारतीय मुख्य कोच टेरी वॉल्श ने कहा कि लड़कों को प्रत्येक मैच से सीख लेने और अगले मैच पर ध्यान लगाने की जरूरत है। कोच ने कहा कि भारत को पेनल्टी कॉर्नरों पर काम करने की जरूरत है जिसमें उन्हें मौके बनाने और इन्हें गोल में तब्दील करने की आवश्यकता है।
वॉल्श ने कहा कि भारतीय टीम को मैच के दौरान मिलने वाले पेनल्टी कॉर्नर में से कुछ को भुनाने पर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘हम ज्यादा पेनल्टी कॉर्नर हासिल नहीं कर पा रहे हैं, हम इसी पर ध्यान लगा रहे हैं।’’
वॉल्श ने कहा, ‘‘हम इस पर चर्चा कर रहे हैं और ट्रेनिंग सत्र में विभिन्न चीजों का अभ्यास कर रहे हैं। लेकिन मैचों में गोल पेनल्टी कॉर्नर से नहीं आ रहे हैं।’’
पेनल्टी कॉर्नर की ट्रेनिंग के बावजूद भारत पूल के पांच मैचों में मिले 12 में से एक पेनल्टी कॉर्नर को भी गोल में नहीं बदल सका। दक्षिण कोरिया के खिलाफ अच्छे मुकाबले से भारतीय टीम का मनोबल बढ़ना चाहिए, दोनों टीमें इस साल एशियाई खेलों में भी एक दूसरे के आमने सामने होंगी जो उपमहाद्वीप का 2016 ओलंपिक रियो डि जिनेरियो के लिए क्वॉलीफाई करने का टूर्नामेंट होगा।


Check Also

पूर्व ओलंपियन फुटबॉलर अहमद हुसैन का हुआ निधन

शुक्रवार को एक दुखद समाचार में आया कि पूर्व ओलंपियन फुटबॉलर अहमद हुसैन का निधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *