Tuesday , 22 September 2020
Home >> Breaking News >> बांग्लादेशी कट्टरपंथियों को शरण दे रही है तृणमूल : भाजपा

बांग्लादेशी कट्टरपंथियों को शरण दे रही है तृणमूल : भाजपा


bjp
कोलकाता,एजेंसी-14 जून। भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल सरकार पर आरोप लगाया कि वह बांग्लादेशी कट्टरपंथियों को संरक्षण और शरण दे रही है। भाजपा ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले आतंक फैलाने की एक बड़ी साजिश है। भाजपा के एक पांच सदस्यीय दल ने 31 मई को उत्तर 24 परगना जिले में संदेशखली का दौरा किया था, जहां तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई गोलीबारी में दो दर्जन से अधिक भाजपा कार्यकर्ता जख्मी हो गए थे।

जांच दल ने अपनी रिपोर्ट शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह को सौंप दिया, जो केंद्रीय गृह मंत्री भी हैं। दल ने अपनी रपट में कहा, ‘‘बांग्लादेश से लगा सीमावर्ती इलाका इस्लामवादी कट्टरपंथी संगठनों के लिए नया पनाहगाह है, जिन्हें तृणमूल सरकार वोटबैंक की राजनीति के लिए संरक्षण दे रही है।’’ रपट में कहा गया है, ‘‘तृणमूल नेताओं का एक वर्ग भी बांग्लादेश के जमात-ए-इस्लामी के कार्यकर्ताओं और अपराधियों को शरण दे रहा है। ये असामाजिक तत्व सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के लिए सीमा पार कर पश्चिम बंगाल आते हैं और कट्टरपंथी विचारों को हवा देते हैं।’’

रपट में यह भी कहा गया है कि इनमें से कुछ तत्वों ने पिछले चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में खुलेआम प्रचार किया है। दल ने कांग्रेस नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार पर आरोप लगाया है कि उसने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को निर्देश दे रखा था कि वह गैर घातक हथियारों का इस्तेमाल करे, जिसके कारण अपराधियों का हौसला बढ़ा है और घुसपैठ, मानव तस्करी व नकली नोट का कारोबार बढ़ा है।

भाजपा उपाध्यक्ष एस.एस. अहलूवालिया और मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व वाले दल की रपट में कहा गया है, ‘‘ये समूह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा हैं और इस मुद्दे से निपटते समय इस बात को ध्यान में रखा जाना चाहिए।’’ दल ने कहा है, ‘‘ये हमले सिर्फ दो राजनीतिक दलों के बीच कोई लड़ाई नहीं है, बल्कि इस्लामिक समूहों, तस्करी माफिया, आतंकवादी तत्वों और तृणमूल के गुंडों के एक गठजोड़ के जरिए क्षेत्र में आतंक का वातावरण फैलाने की एक बड़ी साजिश है।’’

रपट मेंं कहा गया है, ‘‘पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के एक बड़ी राजनीतिक ताकत के रूप में उभरने से इन तत्वों और इनकी गतिविधियों को समर्थन दे रही राजनीतिक पार्टियों के खतरनाक मंसूबों के लिए गंभीर खतरा पैदा हो गया है। इसीलिए उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा का दुष्चक्र छेड़ रखा है।’’


Check Also

बिहार के मतदाताओं को रिझाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ताबड़तोड़ उद्घाटन व शिलान्यास करने में लगे

बिहार में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने ही वाला है। चुनाव आयोग इसी महीने किसी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *