Home >> Breaking News >> भारत-भूटान पनबिजली सहयोग बढ़ाना चाहता हूं : मोदी

भारत-भूटान पनबिजली सहयोग बढ़ाना चाहता हूं : मोदी


Modi ji
थिंपू,एजेंसी-16 जून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भूटानी संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि भारत इस हिमालयी देश के साथ पनबिजली क्षेत्र में सहयोग बढ़ाना चाहता है। साथ ही यहां के युवाओं को प्रौद्योगिकी में पूरी तरह सक्षम बनाना चाहता है, ताकि वे दुनिया के साथ कदम मिलाकर चल सकें। नेशनल एसेंबली और नेशनल काउंसिल के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने हिंदी में दिए भाषण में कहा कि उन्होंने भूटान को पहले विदेशी दौरे के लिए इसलिए चुना, क्योंकि दोनों देशों का संबंध कई सालों से है और बहुत मजबूत है।
उन्होंने प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद भूटान के विकास की प्रशंसा की। भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा, “पनबिजली के क्षेत्र में भारत-भूटान सहयोग मजबूत है। मैं इसे आगे ले जाना चाहता हूं।”
उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सहयोग विश्व में स्थाई विकास के लिए उदाहरण होना चाहिए। मोदी ने कहा कि भारत की ओर से भूटान में डिजिटल लाइब्रेरी शुरू करने के रविवार को की गई घोषणा का लक्ष्य दोनों देशों के युवाओं को जोड़ना है।
उन्होंने कहा, “विश्व के अन्य देशों के साथ भूटानी युवकों के कदम से कदम मिलाने में मदद के लिए जिस किसी प्रौद्योगिकी की आवश्यकता होगी, भारत उपलब्ध कराएगा।”
प्रधानमंत्री ने कहा कि स्पष्ट जनादेश पाने के बाद अपने विदेशी दौरे की शुरुआत वह किसी भी बड़े देश की यात्रा कर सकते थे, लेकिन उन्होंने भूटान को चुना। उन्होंने कहा, “लेकिन मैं भूटान आना चाहता था, इसलिए मुझे सोचना नहीं था। हमारा संबंध बेहद घनिष्ठ और मित्रवत है।”
मोदी भूटान की दो-दिवसीय यात्रा पर रविवार को थिंपू पहुंचे हैं।


Check Also

तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा ने कोरोना वैक्सीन लगवाई

तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा मैक्लोडगंज स्थित अपने निवास से करीब सवा साल बाद बाहर आए। शनिवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *