Home >> Breaking News >> मीरपुर एकदिवसीय : बिन्नी ने भारत को दिलाई अजेय बढ़त

मीरपुर एकदिवसीय : बिन्नी ने भारत को दिलाई अजेय बढ़त


India Binny
मीरपुर (ढाका),एजेंसी-18 जून। अपने दूसरे ही अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में खेल रहे युवा हरफनमौला खिलाड़ी स्टूअर्ट बिन्नी ने विकेटों का छक्का लगाकर शेर-ए-बांग्ला नेशनल स्टेडियम में मंगलवार को हुए दूसरे एक दिवसीय मैच में भारत को बांग्लादेश पर 47 रनों से जीत दिला दी।

इसके साथ ही भारत ने तीन मैचों की शृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली। चार रन देकर छह विकेट चटकाने वाले बिन्नी प्लेयर आफ द मैच चुने गए। एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों में किसी भी भारतीय गेंदबाज का यह सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी विश्लेषण भी है। पहली पारी तक मैच के हीरो रहे बांग्लादेश के लिए पदार्पण मैच खेल रहे तस्कीन अहमद की बेहतरीन गेंदबाजी भी बिन्नी के आगे फीकी पड़ गई।

बारिश से बाधित एवं 41-41 ओवरों के संशोधित मैच में भारतीय टीम ने बिन्नी और मोहित शर्मा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत 106 रनों के मामूली लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश को भारत ने 17.4 ओवरों में 58 रनों पर ध्वस्त कर दिया। मोहित ने दूसरी ही गेंद पर तमीम इकबाल का विकेट चटकाकर बांग्लादेश को पहला झटका दे दिया। बांग्लादेश अभी पहले झटके से उबर भी नहीं पाया था कि शर्मा ने तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर अनामुल हक को पवेलियन की राह दिखा दी।

बांग्लादेश की तरफ से अपना पदार्पण मैच खेल रहे मिथुन अली (26) और कप्तान मुशफीकुर रहीम (11) ही कुछ देर तक विकेट पर टिके रहे। 12वें ओवर की चौथी गेंद पर मुशफीकुर रहीम का विकेट गिरने के साथ ही बांग्लादेशी विकेट ताश के पत्तों की तरह भरभरा कर गिर गई। बिन्नी ने 14वें ओवर में मिथुन अली और महमुदुल्ला के विकेट चटकाकर बांग्लादेश को संकट में ला दिया तो 15वां लेकर आए मोहित ने शाकिब अल हसन और जियाउर रहमान के विकेट चटकाकर बांग्लादेश की कमर ही तोड़ दी।

अगले ही ओवर में बिन्नी ने मुशर्रफे मुर्तजा को विकेट के पीछे कैच आउट करवा दिया। इसके बाद अपना अगला ओवर लेकर आए बिन्नी ने नासिर हुसैन और अल अमीन हुसैन को पवेलियन की राह दिखा भारत को जीत दिला दी। बिन्नी ने 4.4 ओवर की गेंदबाजी में मात्र चार रन देकर छह विकेट चटकाए। इसके साथ ही बिन्नी अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय में किसी एक मैच में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी विश्लेषण में नौवें स्थान पर पहुंच गए।

मोहित ने भी बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए चार बल्लेबाजों को चलता किया। बांग्लादेश के आखिरी सात विकेट 14 रन जोडऩे में चले गए। बांग्लादेश के आठ खिलाड़ी निजी स्कोर दो अंकों के ऊपर नहीं ले जा सके। इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी पूरी भारतीय टीम 25.3 ओवरों में 105 रनों पर धराशायी हो गई थी, जिसमें बांग्लादेश के लिए पदार्पण मैच खेल रहे मध्यम गति के गेंदबाज तस्कीन अहमद का विशेष योगदान रहा। बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम का यह न्यूनतम स्कोर है।

रहाणे मैच की दूसरी ही गेंद पर खाता खोले बगैर पवेलियन लौटे। मुशर्रफे मुर्तजा की गेंद पर रहाणे पगबाधा करार दिए गए। पिछले मैच में शानदार अर्धशतक लगाने वाले रोबिन उथप्पा (14) इस मैच में कुछ खास नहीं कर सके और तस्कीन अहमद के पहले शिकार बने। तस्कीन ने इसके बाद अंबाती रायडू (1) और चेतेश्वर पुजारा (11) को पवेलियन की राह दिखाई। कप्तान सुरेश रैना (27) ही मामूली संघर्ष कर सके। स्टूअर्ट बिन्नी के पैड से लगकर डीप स्क्वायर लेग पर गई गेंद को अल अमीन होसैन ने सीधे गेंदबाजी छोर पर खड़े मुर्तजा की ओर फेंका और मुर्तजा ने रैना को रन आउट करने में कोई भूल नहीं की। भारतीय टीम के छह खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।

श्रीलंका के लिए तस्कीन ने पांच विकेट चटकाए। मुर्तजा को दो तथा अल अमीन हुसैन और शाकिब अल हसन को एक-एक विकेट मिला। पदार्पण मैच में पांच विकेट लेने वाले तस्कीन दुनिया के सातवें गेंदबाज तथा पर्दापण मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले पांचवें गेंदबाज बन गए।


Check Also

सुहागन स्त्रियां करवा चौथ का त्योहार बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाती हैं : धर्म

करवा चौथ का व्रत हर सुहागन स्त्री के जीवन में बहुत महत्व पूर्ण होता है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *