Home >> Breaking News >> 2015 में 4G की शुरुआत करेगा Reliance

2015 में 4G की शुरुआत करेगा Reliance


4 G Rim
मुंबई,एजेंसी-19 जून। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने खुदरा, तेल एवं गैस और दूरसंचार सहित अपने कई उद्यमों में 180,000 रुपये (30 अरब डॉलर) निवेश करने की योजना बनाई है। कंपनी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने बुधवार को यह बात कही। अगले साल से कंपनी की दूरसंचार इकाई रिलायंस जियो 4जी सेवा की शुरुआत करेगी।
40वीं सालाना आम बैठक में शेयर धारकों को संबोधित करते हुए अंबानी ने कहा कि कंपनी की योजना कारोबार के विस्तार की है, जिसका उद्देश्य अगले 2-3 सालों में दुनिया के शीर्ष 50 कंपनियों में शामिल होना है। फॉरच्यून की 500 वैश्विक कंपनियों की सूची में रिलायंस का स्थान वर्तमान में 135वां है।
रिलायंस कंपनी के सूचीबद्ध होने के बाद यह 37वीं सालाना आम बैठक थी।
अंबानी ने कहा, “बीते 37 सालों में हम लोगों ने 240,000 करोड़ रुपये निवेश किया है और वर्तमान त्रिवर्षीय निवेश अवधि में हम 180,000 करोड़ रुपये निवेश करेंगे।”
उन्होंने कहा, “वर्तमान में हम रिलायंस के इतिहास में सबसे बड़े निवेश के मध्य हैं।”
अंबानी ने कहा कि आने वाला तीन साल रिलायंस के इतिहास में परिवर्तनकारी होगा।
उन्होंने कहा, “आने वाले दो सालों (2014-15 और 2015-16) में पेट्रोकेमिकल्स, रिफाइनिंग, रिटेल और जियो की परियोजनाओं के क्रियान्वयन और विकास पर ध्यान दिया जाएगा।”
उन्होंने कहा, 2016-17 का पूरा साल निवेश से प्राप्त लाभ शेयरधारकों, ग्राहकों और समाज के लिए उपलब्ध होगा।
अंबानी ने कहा कि रिलायंस जियो के तहत 4जी ब्रॉडबैंड व्यापार आगामी कुछ सालों में रिलायंस का ‘सबसे परिवर्तनकारी पहल होगा।’
उन्होंने कहा कि कंपनी का दूरसंचार में 70 हजार करोड़ रुपये निवेश की योजना है।
अंबानी ने कहा कि प्रारंभिक सेट के साथ सीमित क्षेत्र परीक्षण पहले से ही चल रहे हैं और साल 2015 में रिलायंस जियो की शुरुआत पूरे भारत में चरबद्ध रूप से हो जाएगी।
रिटेल व्यापार के बारे में अंबानी ने कहा, “हमें हर 3-4 सालों में रिटेल व्यवसाय के दोगुना होने का विश्वास है। उपभोक्ता व्यवसाय में रिटेल एक प्रमुख विकास इंजन के रूप में उभरेगी।”
उन्होंने कहा, “राजस्व के हिसाब से रिलायंस रिटेल भारत का सबसे बड़ा रिटेलर है। भारत के 146 शहरों में 1,691 रिलायंस रिटेल स्टोर हैं।”


Check Also

चीन साइबर तरीकों से इंडियन कंपनियों को बना चुका निशाना,भारतीय परिवहन क्षेत्र के खिलाफ शुरू किया जासूसी अभियान

चीन साइबर तरीकों से इंडियन कंपनियों को निशाना बना चुका है। गुरुवार को साइबर खतरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *