Home >> Breaking News >> रेल किराए बढ़ोतरी को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन

रेल किराए बढ़ोतरी को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन


Protest

नई दिल्ली,एजेंसी-21 जून। एक ओर बिजली संकट पर दिल्ली और उत्तर प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है ‍तो दूसरी ओर रेल किराया बढ़ाने को लेकर जगह जगह विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। दिल्ली में डीईआरसी ने दाम बढ़ने की आशंका जताई है। उसने कहा कि बिजली के दाम कम होने की फिलहाल कोई संभावना नहीं है।

उधर, रेल किराया बढ़ाने की घोषणा के चलते कांग्रेस सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है। शनिवार को दिल्ली के जनकपुरी में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने रेल भाड़े में बढ़ोतरी, बिजली दरों में इजाफा और पानी की महंगी दरों के खिलाफ प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं के प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस ने उन पर पानी की बौछारें छोड़ी।

गौरतलब है कि कांग्रेस पिछले दस दिनों से दिल्ली में बिजली और पानी की खराब सप्लाई की वजह से प्रदर्शन करती रही है। दिल्ली कांग्रेस नेता अरविंदर सिंह लवली का कहना है कि यह वहीं भाजपा है जो कि नवाज शरीफ को भारत बुलाने पर कांग्रेस की बुराई करती रही है।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जब वह रेल मंत्री थे तब किराए में वृद्धि का प्रस्ताव उनके सामने आया था लेकिन उन्होंने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया क्योंकि लोकसभा चुनाव नजदीक थे और वह चाहते थे कि नई सरकार आम जनता पर बोझ डाले बिना कोई फैसला ले। लेकिन, इसके उलट सरकार ने अब एकाएक फैसला लिया है। उन्होंने साथ ही संसद के बजट सत्र से पहले एकाएक ऐसा करने की जरूरत पर सवाल उठाए। खड़गे ने कहा कि इसे लेकर संसद में चर्चा की जा सकती थी और सरकार आम जनता पर बोझ डाले बगैर तब व्यक्त किए गए विचारों के आधार पर फैसला करती।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर मोदी पर निशाना साधा है।

इसके अलावा उत्तरप्रदेश के वाराणसी और इलाहाबाद में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रेल किराए में बढ़ोतरी के बाद विरोध प्रदर्शन किया और ट्रेन रोककर अपने रोष व्यक्त किया। सपा नेताओं ने रेलवे लाइनों पर खड़े होकर झंडे लहराए और नारेबाजी की।

दूसरी ओर सीपीआई (आई) नेता बिंदा करात ने मोदी के ‘अच्छे दिन’ के वादे पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि हम सरकार के इस फैसले की पूरी तरह से निंदा करते हैं। इससे फैसले की वजह से ट्रेन से रोज सफर करने वाले लेबर क्लास पर भारी असर पड़ेगा। बजट से कुछ दिन पहले ऐसी घोषणा गलत है और हमने लोगों से इसका विरोध करने की अपील की है।

सपा नेता आजम खां ने कहा, ‘देश की जनता को मुबारक हो अच्‍छे दिन.’ राजद मुखिया लालू यादव ने कहा, ‘मोदी ने देश के लोगों को अच्‍छे दिन के सब्‍जबाग दिखाकर गुमराह किया है।’ सीपीआई नेता अतुल अंजान ने कहा, ‘अगर लोगों की पीठ पर लात मारने से अच्‍छे दिन आते हैं तो जारी रखिए।’

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मोदी पर चुटकी लेते हुए कहा, रेल किराया बढ़ाना अच्‍छे दिनों की शुरुआत नहीं है। नीतीश की पार्टी जेडी(यू) की तरफ से कहा गया है, ‘बजट से पहले रेल किराया बढ़ाना संसद की अवमानना है।’

सरकार की सफाई : इस बीच, रेल मंत्री सदानंद गौड़ा पीएम नरेंद्र मोदी से मिल रहे हैं। गौड़ा रेलवे की नई योजना पर मोदी को प्रेजेंटेशन देंगे। रेल मंत्री किराया बढ़ोतरी की जानकारी भी मोदी को देंगे। किराया बढ़ाने के पीछे रेल मंत्री ने दलील दी, ‘पिछली सरकार के अंतरिम बजट में प्रस्तावित दरों को लागू करने के लिए मजबूर हुआ।’ भाजपा ने भी दलील दी है। पार्टी प्रवक्‍ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘पिछली सरकार के फैसले को लागू किया।


Check Also

12वी के बाद करना चाहते है होटल मैनेजमेंट कोर्स तो पढ़े पूरी खबर

समय के साथ हॉटल्स की संख्या बढ़ने के साथ ही हॉसपिटैलिटी इंडस्ट्री में भी बहुत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *