Home >> Breaking News >> महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर सरगर्मी तेज

महाराष्ट्र में सीएम पद को लेकर सरगर्मी तेज


Cm Chauhan

नई दिल्ली,एजेंसी-21 जून। महाराष्ट्र में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के इशारे पर मुख्यमंत्री बदले जाने को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। पवार का आरोप है कि चाव्हाण एनसीपी विरोधी एजेंडे पर काम कर रहे हैं। हालांकि महाराष्ट्र में सीएम बदलने को लेकर कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि अगर कांग्रेस मुख्यमंत्री बदलती है तो उनकी पार्टी को इसमें कोई ऐतराज नहीं है।

जब से यह कवायद शुरू हुई है राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण हरकत में आ गए हैं और उन्होंने शुक्रवार देर रात सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल से मुलाकात की। माना जा रहा है कि बैठक में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नेतृत्व परिवर्तन की बात हुई है। चव्हाण संभवत: शनिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं।

सूत्रों अनुसार शरद पवार के इशारे पर ही पृथ्वीराज चव्हाण को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से हटाने की बात चल रही है। पवार ने यहां तक चेतावनी दे दी है कि अगर कांग्रेस चव्हाण को नहीं हटाती है तो एनसीपी महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का फैसला कर सकती है।

पवार ने दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के नेताओं एके एंटनी और अहमद पटेल के साथ बैठक में यह मुद्दा उठाया था। पवार पहले भी 7 मुद्दों वाली एक चिट्ठी कांग्रेस को लिख चुके हैं। जिसमें उन्होंने सोनिया गांधी से चव्हाण के कामकाज के तरीकों की शिकायत की थी। पवार ने चिट्ठी में लिखा था कि चव्हाण महाराष्ट्र में एनसीपी विरोधी एजेंडा पर काम कर रहे हैं। पवार ने महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में हार के लिए भी दोनों पार्टियों के बीच तालमेल की कमी को वजह बताया था।

पवार ने गुरुवार की बैठक में एंटनी और पटेल से कहा कि कांग्रेस को पृथ्वीराज चव्हाण की जगह अशोक चव्हाण या सुशील कुमार शिंदे को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाना चाहिए। लेकिन शिंदे के करीबियों के मुताबिक लोकसभा चुनाव में हार के बाद शिंदे महाराष्ट्र की राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने के मूड में नहीं हैं।


Check Also

घोषणा पत्र: RJD के 10 लाख के जवाब में BJP ने किया बिहार के 19 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा

  बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर आज भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपना घोषणा पत्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *