Wednesday , 23 September 2020
Home >> Breaking News >> हिंदुत्व सिर्फ धर्म नहीं है : राष्ट्रपति

हिंदुत्व सिर्फ धर्म नहीं है : राष्ट्रपति


Pranab Mukherjee
नई दिल्ली,एजेंसी-24 जून। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को कहा कि हिंदुत्व सिर्फ एक धर्म नहीं है. उन्होंने यह बात राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित अंतर धर्म समागम के दौरान कही. राष्ट्रपति को इस दौरान ‘इंसाइक्लोपीडिया ऑफ हिंदुइज्म’ की एक प्रति सौंपी गई.

भारत के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी

मुखर्जी ने इस अवसर पर, विश्वकोश तैयार करने में परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद सरस्वतीजी द्वारा किए गए प्रयास की सराहना की. स्वामी सरस्वतीजी इंडिया हेरिटेज रिसर्च फाउंडेशन के संस्थापक हैं.

राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के अनुसार, मुखर्जी ने कहा कि हिंदू धर्म दर्शन में धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को मानवों का सबसे मुख्य उद्देश्य माना जाता है.

पूर्व राष्ट्रपति और महान विचारक सर्वपल्ली राधाकृष्णन के वक्तव्य का हवाला देते हुए मुखर्जी ने कहा हिंदुत्व सिर्फ धर्म नहीं, बल्कि विचारों और अनुभवों का मेल है जिसका वर्णन नहीं किया जा सकता, बल्कि सिर्फ महसूस किया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि हिंदुत्व का मूल सूत्र है कि हर कोई खुश, सेहतमंद और ज्ञान से प्रकाशित रहे और किसी के जीवन में दुख, दर्द और तकलीफ न आए.

राष्ट्रपति ने महात्मा गांधी के वक्तव्य का उल्लेख करते हुए कहा, “अगर मुझे हिंदू धर्म को परिभाषित करने के लिए कहा जाए, तो मैं सामान्य रूप से कहूंगा कि अहिंसा के जरिए सत्य की खोज. एक इंसान भले ईश्वर में विश्वास नहीं करता हो, फिर भी वह खुद को हिंदू कह सकता है.”


Check Also

राम जी के भक्त हनुमान जी के सुमिरन से सभी तरह की परेशानियों का नाश होता है: धर्म

परेशानी चाहे आम जीवन से जुड़ी हो या कार्यस्थल से जुड़ी हो हनुमान जी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *