Home >> Breaking News >> Kejriwal के इस्तीफे के कारण दिल्ली में हारी आप : योगेंद्र

Kejriwal के इस्तीफे के कारण दिल्ली में हारी आप : योगेंद्र


AAP Yogendra
भिवानी,एजेंसी-25 जून। आम आदमी पार्टी (आप) के हरियाणा प्रभारी योगेंद्र यादव ने आरोप लगाया कि कुछ मीडिया घरानों ने अंबानी के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी को हराने का कार्य किया। लेकिन मोदी की लहर और मीडिया के विरोध के बावजूद पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया। भाजपा जैसी पार्टियों का तो पहले चुनाव में खाता भी नहीं खुल पाया था।
पत्रकारों से बातचीत के दौरान यादव ने कहा कि दिल्ली में पार्टी की हार का कारण केजरीवाल का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना था। हम कुर्सी से न चिपके रहने की मिसाल पेश करना चाहते थे, जबकि जनता ने इसे नकार दिया और इसे पलायन माना।
इस बार के हरियाणा विधानसभा चुनाव में शराब के मुद्दे को भुनाने की योजना बना रहे योगेंद्र यादव ने कहा कि वह पूरी तरह से शराब बंदी के पक्ष में नहीं हैं, लेकिन शराब को नियंत्रित करना जरूरी है। इसके लिए ग्राम सभा में महिलाओं के बहुमत से ही शराब के ठेके खोलने या न खोलने का प्रस्ताव पास होना चाहिए।
उन्होंने बताया कि आम आदमी पार्टी के नेता कुछ दिनों से प्रदेश के सभी जिलों का दौरा कर रहे हैं। इसके तीन मकसद हैं। पहला लोकसभा चुनावों की समीक्षा, दूसरा देशभर में पार्टी संगठन के निर्माण की रूपरेखा लोगों के समक्ष प्रस्तुत करना और तीसरा हरियाणा विधानसभा चुनाव में पार्टी की भूमिका पर कार्यकर्ताओं से रायशुमारी करना है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के प्रति लोगों में गुस्सा है। इनेलो के नेता खुद भ्रष्टाचार के मामले में जेल काट रहे हैं और भाजपा उधार के नेताओं की पार्टी है। ऐसे में जनता को आम आदमी पार्टी विकल्प के रूप में देने की जरूरत है। ‘आप’ ने सीएलयू, भूमि अधिग्रहण, नौकरियों में फर्जीवाड़े के मुद्दे उठाए हैं।
‘आप’ की बैठक में निकाली भड़ास
आम आदमी पार्टी की मंगलवार को बासिया भवन में हरियाणा प्रभारी योगेंद्र यादव की अध्यक्षता में हुए जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर जमकर भड़ास निकाली। कार्यकर्ताओं में हाथापाई तक की नौबत आ गई। योगेंद्र यादव के बीच-बचाव व नई रणनीति तैयार करने के आश्वासन के बाद कार्यकर्ता शांत हुए।
भगाना दुष्कर्म कांड की हो सीबीआइ जांच : केजरीवाल
आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भगाना में दलित नाबालिगों के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में सीबीआइ जांच होनी चाहिए। दलितों पर दर्ज सभी झूठे मुकदमे वापस लिए जाएं। हरियाणा में कानून व्यवस्था चौपट है। वहां कांग्रेस के मुख्यमंत्री की तानाशाही चलती है। मुझे उम्मीद नहीं की प्रदेश सरकार पीड़ित दलितों को कभी न्याय देगी। वह मंगलवार शाम जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे भगाना सामूहिक दुष्कर्म कांड के पीड़ित व अन्य प्रदर्शनकारियों को संबोधित कर रहे थे।
केजरीवाल ने मांग करते हुए कहा कि दुष्कर्म के मामले में सरपंच समेत सभी आरोपियों की गिरफ्तारी हो। पीड़ित लोग अब हरियाणा में सुरक्षित नहीं हैं। इसलिए केंद्र सरकार सभी के पुर्नवास की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि उन्हें हरियाणा की कांग्रेस सरकार पर कतई विश्वास नहीं है। वह इस मामले में कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलेंगे और उन्हें अपनी मांगों को लेकर चिट्ठी सौंपेंगे।
इस दौरान आप के वरिष्ठ नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि भगाना का संघर्ष ऐतिहासिक संघर्ष है। वह अब हिसार के इस कांड को पूरे हरियाणा में लोगों के सामने रखकर आगे आने के लिए जागरूक करेंगे।


Check Also

राष्ट्रीय मुद्दों पर जोर देने की जरूरत संगठन के चुनाव बाद में भी कराए जा सकते हैं : राजस्थान के CM अशोक गहलोत

कांग्रेस पार्टी में जारी अंदरुनी कलह के बीच शुक्रवार को पार्टी की वर्किंग कमेटी की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *