Thursday , 24 September 2020
Home >> Exclusive News >> जानिए रमज़ान की अहमियत

जानिए रमज़ान की अहमियत


Ramadan
खबर इंडिया नेटवर्क, लखनऊ। अल्‍लाह पाक ने सारी आसमानी किताबें रमज़ान के महीने में ही उतारी। कुरान पाक लौहे महफ़ूज से दुनिया वाले आसमान पर पूरा का पूरा इसी महीने में उतारा गया और वहां से 23 साल में हालात के हिसाब से थोड़ा-थोड़ा नाजिल किया गया। हजरत इब्राहिम अलैहिस्‍सलाम के सहीफे इसी महीने की 3 तारीख को उतारे गए।

हजरत दाऊद अलैहिस्‍सालम को ज़ुबूर (कुरान जैसी किताब) 18 या 21 रमजान को मिली और हजरत मूसा अलैहिस्‍सलाम को तौरेत 6 रमजान को अता हुई और हजरत ईसा अलैहिस्‍सलाम को इन्‍जील 12 या 13 रमज़ान के मिली। तो सोचने वाली बात है कि अल्‍लाह को रमज़ान का महीना कितना पसंद होगा कि बड़े-बड़े काम इसी महीने के किए। इसलिए हम भी इसकी एहमियत को समझें और अल्‍लाह की इबादत करके इसका पूरा फायदा उठाएं।
रमज़ा


Check Also

पितृ पक्ष की मातृ नवमी को सौभाग्यवती नवमी कहते हैं: धर्म

आज पितृ पक्ष की मातृ नवमी है. पितृ पक्ष में इस दिन का विशेष महत्व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *