Saturday , 19 September 2020
Home >> Breaking News >> उप्र : पीपीपी मॉडल पर संचालित होंगे 10 बस स्टेशन

उप्र : पीपीपी मॉडल पर संचालित होंगे 10 बस स्टेशन


UP

लखनऊ,एजेंसी-9 जुलाई | प्रदेश सरकार ने परिवहन निगम के बस अड्डों को 10 जगह पर पब्लिक प्राइवेट पार्टनशिप यानी पीपीपी मॉडल पर संचालित करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट बैठक में उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यू.पी.एस.आर.टी.सी.) के बस स्टेशनों के विकास के लिए निविदा प्रस्ताव आमंत्रित करने के लिए रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशन (आर.एफ.क्यू.), रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आर.एफ.पी.) व कंसेशन एग्रीमेंट (सी.ए.) को मंजूरी दे दी गई।

प्रदेश सरकार के मुताबिक इस योजना से एक ओर जहां जन सामान्य को आधुनिक एवं उच्चीकृत बस स्टेशन, साफ-सुथरी यात्री सुविधाएं व विकसित शॉपिंग कॉम्प्लेक्स की सुविधा मिलेगी, वहीं दूसरी ओर वित्तीय रूप से कमजोर परिवहन निगम की आय में इजाफा होगा। पी.पी.पी. मॉडल पर परिवहन निगम के बस स्टेशनों के विकास के लिए अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त के आधीन निर्धारित सीईसी यानी परामर्शी मूल्यांकन समिति सी.ई.सी. की मंजूरी के अनुसार मे. एक्सिनो कैपिटल सर्विसेज लि., नागपुर को माह नवम्बर, 2012 में आबद्ध किया गया।

सीईसी द्वारा विभिन्न मापदण्डों के आधार पर आगरा में आगरा फोर्ट-ईदगाह-ट्रांसपोर्ट नगर, कौशाम्बी, गाजियाबाद, कानपुर देहात में रसूलाबाद, अलीगढ़, लखनऊ में आलमबाग, कानपुर में झकरकट्टी, इलाहाबाद में सिविल लाइंस, वाराणसी में वाराणसी कैण्ट तथा मेरठ में सोहराब गेट सहित कुल 10 बस स्टेशनों को पी.पी.पी. पद्धति पर विकसित करने के लिए सुझाव दिया गया है। इन 10 बस स्टेशनों का कुल साइट क्षेत्रफल 234,789 वर्ग मीटर तथा निर्माण की कुल अनुमानित लागत 1,940 करोड़ रुपये है।


Check Also

देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं: CM योगी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दी और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *