Home >> Breaking News >> मोदी ब्रिक्स सम्मलेन के लिए रवाना, बर्लिन पहुंचे

मोदी ब्रिक्स सम्मलेन के लिए रवाना, बर्लिन पहुंचे


PM Modi
नई दिल्ली,एजेंसी-14 जुलाई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए ब्राजील रवाना हो गए। शपथ ग्रहण के बाद अपने पहले विदेशी दौरे में मोदी भूटान गए थे। लेकिन ब्रिक्स सम्मेलन उनका पहला बहुराष्ट्रीय सम्मेलन है। चार दिनों के इस दौरे पर प्रधानमंत्री के साथ वाण्रुिय राज्य मंत्री निर्मला सीतारमण, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल और विदेश सचिव सुजाता सिंह शामिल हैं।
भूटान के बाद दूसरे विदेशी दौरे के लिए जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कदम विमान की तरफ बढ़े तो मंजिल ब्राजील थी। सोमवार देर शाम मोदी जर्मनी के रास्ते फॉर्टलेजा पहुंचेंगे और छठे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे। इस मौके पर ब्राजील,रूस,चीन और दक्षिण अफ्रिका के राष्ट्रध्यक्षों से उनकी बातचीत होगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिक्स देशों के छठे शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के लिए आज ब्राजील रवाना हो गए। ब्राजील की यात्रा के दौरान मोदी आज बर्लिन पहुंचे और वह यहीं रात्रि विश्राम करेंगे।
प्रधानमंत्री के साथ वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री निर्मला सीतारमण, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव सुजाता सिंह और कई वरिष्ठ अधिकारी भी शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जा रहे हैं। मोदी कल सुबह ब्राजील के तटीय शहर फोर्ट एलिजा के लिये रवाना होंगे। विदेश में एक से ज्यादा देशों के नेताओं से एक साथ मिलने का ये मोदी का पहला मौका है।
मोदी की प्रधानमंत्री बनने के बाद पड़ोसी मुल्कों से बाहर की यह पहली बड़ी यात्रा है। प्रधानमंत्री पद ग्रहण करने के बाद मोदी पिछले माह अपनी पहली विदेश यात्रा पर दक्षेस के सदस्य तथा पड़ोसी देश भूटान की यात्रा कर चुके हैं, लेकिन दक्षेस से बाहर की उनकी यह पहली यात्रा है।
पीएम का संदेश
ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संदेश में कहा कि ब्रिक्स आर्थिक तरक्की, शांति और स्थायित्व को बढ़ावा देने का मंच है। ब्रिक्स देशों ने दुनिया के हित में कई बड़े फैसले लिए हैं। ब्राजील में मुलाकात के साथ ही ब्रिक्स सम्मेलन दूसरे दौर में प्रवेश कर जाएगा। इस समिट के जरिए ब्रिक्स में शामिल देश इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे कि अपने घरेलू मुश्किलों से उबरकर कैसे विश्व की तरक्की का साझेदार बना जाए। इस दौरान सुरक्षा, सीमा विवाद, पर्यावरण और विश्व शांति पर भी चर्चा होगी।


Check Also

लद्दाख में 38,000 वर्ग किलोमीटर पर चीन का अवैध कब्जा जारी है: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एलएसी के हालातों को लेकर राज्यसभा में बयान दे रहे हैं। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *