Home >> Breaking News >> महंगाई दर 4 महीने के निचले स्तर पर

महंगाई दर 4 महीने के निचले स्तर पर


Mahngayi
नई दिल्ली,एजेंसी-14 जुलाई। महंगाई के मोर्चे पर भी सरकार को राहत मिली है। जून में थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर में 0.5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है। जून में थोक महंगाई दर घटकर 5.43 फीसदी हो गई है। वहीं मई में थोक महंगाई दर 6.01 फीसदी पर थी।
जून में थोक महंगाई दर 4 महीने के निचले स्तर पर आ गई है। लेकिन अप्रैल की थोक महंगाई दर संशोधित होकर 5.20 फीसदी से बढ़कर 5.55 फीसदी हो गई है। साथ ही महीने दर महीने आधार पर जून में कोर महंगाई दर 3.8 फीसदी से बढ़कर 3.9 फीसदी हो गई है।
महीने दर महीने आधार पर जून में खाने-पीने की महंगाई दर 9.5 फीसदी से घटकर 8.14 फीसदी हो गई है। महीने दर महीने आधार पर जून में प्राइमरी आर्टिकल्स की महंगाई दर 8.58 फीसदी से घटकर 6.84 फीसदी हो गई है। हालांकि महीने दर मही
महंगाई घटी जरूर है लेकिन कमजोर मॉनसून का असर आने वाले दिनों में महंगाई पर पड़ सकता है। सरकार भले खुश हो ले लेकिन आम आदमी की चिंता बरकरार है क्योंकि थोक महंगाई दर में भले ही कमी आई हो, लेकिन बाजार में सामान खरीदने जाइए तो हर चीज महंगी मिलती है।
आलू प्याज के बाद अब टमाटर के दाम में भी आग लग गई है। 10 दिन पहले तक 15 से 20 रुपये प्रति किलो बिक रहा टमाटर अब 40 से 60 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। थोक बाजार में भी टमाटर के दाम में भारी उछाल है। मॉनसून की बेरुखी और सूखे के आसार का असर बाजार में दिखने लगा है। गर्मी से झुलस रही जनता को महंगाई और जलाने लगी है।


Check Also

बैंक कर्मियों के संक्रमित होने पर बैंक कर्मचारी यूनियनों ने सरकार से रोस्टर प्रणाली लागू करने की मांग की….

कोरोना संक्रमण की चपेट में सरकारी कार्यालयों के साथ अब बैंक भी आ गए हैं। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *