Wednesday , 21 October 2020
Home >> Breaking News >> संसद में ट्राई संशोधन विधेयक पारित

संसद में ट्राई संशोधन विधेयक पारित


Lok Sabha
नई दिल्ली,एजेंसी-16 जुलाई। राज्य सभा में आज पारित होने के साथ ही भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण अधिनियम में संशोधन से संबंधित विधेयक को संसद को मंजूरी मिल गई। यह विधेयक ट्राई के पूर्व अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव के रूप में नियुक्ति का मार्ग प्रशस्त करने के लिए लाया गया है। यह विधेयक ट्राई अधिनियम में संशोधन के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार की ओर से लाए गए एक अध्यादेश का स्थान लेगा। मौजूदा ट्राई अधिनियम ट्राई के अध्यक्ष या इसके सदस्य को सेवानिवृत्ति के बाद केंद्र या राज्य सरकारों में कोई पद ग्रहण करने से रोकता है।
यह विधेयक राज्यसभा में पारित हो गया। एक दिन पहले यह लोकसभा में पारित हो गया था। विधेयक का विरोध करते हुए कांग्रेस नेता मणि शंकर अय्यर ने कहा है कि यह विधेयक कानून का उल्लंघन है। प्रधानमंत्री के पास कानून के खिलाफ जाने के अलावा कई और विकल्प थे। अय्यर ने कहा है कि सिर्फ एक व्यक्ति के लिए कानून बदलने के विचार के पीछे गलत मंशा है। इसका सिर्फ एक कारण है कि प्रधानमंत्री उन्हें (मिश्रा) रखने की जिद पर अड़े हैं। यह अधिनायकवादी तौर तरीका है।
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने हालांकि कहा कि यह किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं है। उन्होंने कहा है कि विधेयक किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं है। क्या हमें यह मान लेना चाहिए कि भविष्य में ट्राई का कोई ऐसा अध्यक्ष नहीं होगा, जिसकी सेवा की जरूरत सरकार को हो? यह ट्राई को अन्य नियामकीय एजेंसी के समान बनाने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि मिश्रा को उनकी योग्यता और प्रतिभा के कारण प्रधान सचिव पद के लिए चुना गया है।
मिश्रा उत्तर प्रदेश कैडर के 1967 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में उनकी नियुक्ति प्रधानमंत्री कार्यकाल के साथ या अगले आदेश तक समाप्त होगी। विपक्ष ने यह मुद्दा उठाया कि आखिर एक व्यक्ति के लिए सरकार कानून में बदलाव क्यों कर रही है।


Check Also

दिल्ली के लोगों की बढ़ी मुश्किलें, तेज हुई जहरीली हवाएं

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर अचानक से बढ़ गया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *