Home >> Breaking News >> चिपको आंदोलन ने दुनिया को सिखाया अहिंसा का पाठ : राष्ट्रपति

चिपको आंदोलन ने दुनिया को सिखाया अहिंसा का पाठ : राष्ट्रपति


Pranab Mukherjee
नई दिल्ली,एजेंसी-16 जुलाई | राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मंगलवार को चिपको आंदोलन के प्रमुख नेता चंडी प्रसाद भट्ट को 2013 के गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया और कहा कि मशहूर पर्यावरणवादी ने दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाया। मुखर्जी ने कहा, “अहिंसा सिर्फ एक तरीका भर या एक हथियार भर नहीं है। इसमें जिन्हें हम चुनौती देना चाहते हैं उनकी मानवता और राज्य सहित अन्य लोगों की मानवता को स्वीकार करना भी जरूरी है।”

उन्होंने कहा, “भट्ट ने न केवल जवाबदेही पर हमारी समझदारी को गहरा किया, बल्कि दुनिया को अहिंसा की शक्ति से अवगत भी कराया।” पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्रीपाद यसो नाईक और कई देशों के राजनयिकों ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में हिस्सा लिया। मुखर्जी ने पर्यावरण संरक्षण के लिए भट्ट (80) के अथक, समर्पित और उल्लेखनीय काम की भी सराहना की।

उन्होंने कहा, “उनका सम्मान करते हुए हम उन असंख्य महिलाओं और पुरुषों का सम्मान कर रहे हैं जो प्रकृति के न्यासी हो गए हैं और जिन्होंने अपने आगोश से हमारे स्वराज का दायरा बढ़ाया है।” रेमन मैगसेसे अवार्ड से सम्मानित भट्ट ने 1973 में गांधीवादी तरीका अपनाते हुए चिपको आंदोलन शुरू किया था। पेड़ों को आलिंगन में लेकर उन्हें बचाने वाले इस आंदोलन को चिपको आंदोलन कहा जाता है।


Check Also

जब व्यक्ति अपनी क्षमता का आंकलन कर लेता है तभी उसका उद्धार हो पाता है : भगवान कृष्ण

श्रीमद्भागवत गीता में भगवान कृष्ण के द्वारा रण भूमि में अर्जुन को उपदेश दिए गए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *