Home >> Breaking News >> राष्ट्रमंडल खेल : बिंद्रा ने जीता स्वर्ण, मलाइका को रजत पदक

राष्ट्रमंडल खेल : बिंद्रा ने जीता स्वर्ण, मलाइका को रजत पदक


Commonwealth games
ग्लास्गो,एजेंसी-26 जुलाई। भारत के दिग्गज निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने 10 मीटर एयर राइफल व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक के साथ राष्ट्रमंडल खेलों को अलविदा कहा जबकि स्कूली छात्रा मलाइका गोयल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक जीता.

पहले दिन सात पदक जीतकर शानदार शुरूआत करने वाला भारत आज केवल तीन पदक जीत पाया जिसमें एक स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक शामिल है.

निशानेबाजी में दो पदक जीतने के अलावा भारत ने एक पदक भारोत्तोलन में जीता जब महिला 53 किग्रा वर्ग में 20 वर्षीय संतोषी मात्सा ने कांस्य पदक हासिल किया.

भारत फिलहाल तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य पदक सहित कुल 10 पदक जीतकर इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, स्काटलैंड और कनाडा के बाद पांचवें :रिपीट पांचवें: स्थान पर चल रहा है.

दिन का आकषर्ण बिंद्रा रहे. राष्ट्रमंडल खेलों में पिछले चार प्रयासों में 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा का व्यक्तिगत स्वर्ण जीतने में नाकाम रहे बिंद्रा ने आज आखिकार यह उपलब्धि हासिल कर ली.

राष्ट्रमंडल खेलों में युगल वर्ग में तीन स्वर्ण सहित कुल नौ पदक जीत चुके बिंद्रा ने फाइनल राउंड में शानदार प्रदर्शन किया और कोई चूक नहीं की. वह बैरी बुडोन शूटिंग सेंटर में चल रही स्पर्धा के क्वालीफिकेशन में तीसरे स्थान पर रहे थे.

ओलंपिक में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय बिंद्रा ने कुल 205 . 3 अंक बनाए जो खेलों का नया रिकार्ड भी है.

बिंद्रा ने स्पर्धा के बाद भारतीय पत्रकारों से कहा, ‘‘यह मेरे अंतिम राष्ट्रमंडल खेल हैं. पांच राष्ट्रमंडल खेल और नौ पदक मेरे लिए पर्याप्त हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह पदक शानदार है क्योंकि मैंने कड़ी मेहनत की थी और मुझे खुशी है कि मैं यह लक्ष्य हासिल करने में सफल रहा. मुझे वांछित नतीजा मिला.’’

भारत का सामना कल स्काटलैंड से होगा जबकि वेल्स विश्व चैम्पियन और मौजूदा राष्ट्रमंडल चैम्पियन आस्ट्रेलिया से खेलेगा.

भारतीय जुडोका पहले दिन के शानदार प्रदर्शन को आज जारी रखने में नाकाम रहे. केवल सुनिबाला हुईद्रोम ही महिलाओं के 70 किग्रा भार वर्ग के कांस्य पदक के मुकाबले में जगह बना पायी लेकिन उन्हें भी पदक के मुकाबले में स्काटलैंड की सैली कानवाय के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा.

सैली ने पेनल्टी अंक :शिंडो: के आधार पर सुनिबाला को हराया. सुनिबाला को तीन पेनल्टी अंक मिले जबकि स्काटलैंड की जुडोका को एक भी पेनल्टी अंक नहीं मिला.

लंदन ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली भारत की एकमात्र जुडोका गरिमा रेपेचेज में इंग्लैंड की के जे यीट्स ब्राउन से हार गयी. गरिमा ने क्वार्टर फाइनल में स्काटलैंड की सारा क्लार्क और अंतिम 16 में कैमरून की बिबियेन फोपा को हराया था.

भारतीय पुरूषों का प्रदर्शन भी निराशाजनक रहा. बलविंदर सिंह : 73 किग्रा : और वी विकेंदर सिंह : 81 किग्रा : दोनों राउंड 32 में हार गये. बलविंदर को मोजाम्बिक के एडसन मैडिरा ने जबकि विकेंदर को कैमरून के ई जे ओंग्बा फौदा ने पराजित किया.

भारत ने पहले दिन जूडो में दो रजत और एक कांस्य पदक जीता था.

बैडमिंटन में भारत की जीत का क्रम बरकरार रहा. मिश्रित टीम प्रतियोगिता के ग्रुप बी में आज यहां उसने कीनिया को 5-0 से करारी शिकस्त दी.

कल घाना और युगांडा को 5-0 के समान अंतर से हराने के बाद भारत ने फिर से जानदार प्रदर्शन किया और ग्रुप चरण में अजेय रहा.

भारत की मुक्केबाजी स्पर्धा में मिश्रित शुरूआत रही जब मनदीप जांगड़ा ने जीत दर्ज की लेकिन प्रवीण कुमार को शिकस्त का सामना करना पड़ा.

मनदीप ने पुरूष वेल्टर वेट :69 किग्रा: के राउंड आफ 32 में मोजांबिक के अगस्तो मथुले को हराया.

प्रवीण को हालांकि पुरूषों के सुपर हैवीवेट वर्ग :91 किग्रा से अधिक: के प्री क्वार्टर फाइनल में स्काटलैंड के रोस हेंडरसन के हाथों 0-3 से शिकस्त का सामना करना पड़ा.

तैराकों ने फिर निराश किया. संदीप सेजवाल ने पुरूषों की 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक की प्रारंभिक हीट तीन में एक मिनट 2 . 97 सेकेंड के समय के साथ चौथे स्थान पर रहते हुए सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया था लेकिन पहले सेमीफाइनल में वह छठे स्थान रहे. अजरुन पुरस्कार विजेता सेजवाल के प्रदर्शन में सेमीफाइनल में गिरावट आई और वे हीट के प्रदर्शन को भी नहीं दोहरा पाए. सेजवाल एक मिनट 3 . 24 सेकेंड के समय के साथ प्रतियोगिता से बाहर हो गए. वह सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाले 16 तैराकों में 12वें स्थान पर रहे.

भारतीय तैराक सजन प्रकाश पुरूषों की 200 मीटर फ्रीस्टाइल के मुख्य दौर में जगह बनाने में नाकाम रहे. प्रकाश ने एक मिनट 53 . 82 सेकेंड का समय निकाला और वह क्वालीफिकेशन में 22वें स्थान पर रहे.

टेबल टेनिस में भारतीयों ने अपनी शानदार फार्म जारी रखी तथा पुरूष और महिला वर्ग में क्रमश: गयाना और कीनिया को 3-0 के समान अंतर से हराया.

भारतीय पुरूष टीम ने पहले दिन वनातु को 3-0 से हराने के बाद अपना विजय अभियान बरकरार रखा.

भारतीय स्क्वाश स्टार जोशना चिनप्पा हालांकि महिला एकल के अंतिम 16 में विश्व में चौथे नंबर की न्यूजीलैंड की खिलाड़ी जोली किंग से 1-3 से हार गयी. चेन्नई की इस 27 वर्षीय खिलाड़ी को अपनी तीसरी वरीय प्रतिद्वंद्वी के हाथों 3-11, 8-11, 11-8, 5-11 से हार का सामना करना पड़ा.

भारतीय साइकिलिस्ट का निराशाजनक प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा और वे पुरूषों की 4000 मीटर व्यक्तिगत परसुईट और महिलाओं की 3000 व्यक्तिगत परसुईट में फाइनल के लिये क्वालीफाई करने में नाकाम रहे.


Check Also

चीन सीमा पर बार-बार द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना कर रहा है: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह चीन द्वारा की गई कार्रवाई हमारे विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *