Home >> Breaking News >> राष्ट्रमंडल खेल : 15 स्वर्ण सहित 64 पदकों के साथ भारत 5वें स्थान पर

राष्ट्रमंडल खेल : 15 स्वर्ण सहित 64 पदकों के साथ भारत 5वें स्थान पर


indian sportsmen
ग्लासगो,एजेंसी-4 अगस्त। कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत 15 स्वर्ण पदकों सहित कुल 64 पदक हासिल कर पदक तालिका में पांचवें स्थान पर रहा. भारतीय खिलाड़ियों ने देश के लिए 15 स्वर्ण, 30 रजत और 19 कांस्य पदक जीते. राष्ट्रमंडल खेलों के आखिरी दिन रविवार को भारत ने एक स्वर्ण पदक और दो रजत पदक हासिल किए.
इंग्लैंड ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए सर्वाधिक 58 स्वर्ण पदकों सहित 174 पदक हासिल कर 1986 के बाद शीर्ष स्थान पर वापसी की. इंग्लैंड ने 59 रजत और 57 कांस्य जीते. दूसरी ओर पिछली बार शीर्ष पर रहा ऑस्ट्रेलिया इस बार दूसरे स्थान पर रहा. ऑस्ट्रेलिया ने 49 स्वर्ण, 42 रजत और 46 कांस्य के साथ कुल 137 पदक जीते. कनाडा तीसरे पायदान पर रहा. कनाडा ने 32 स्वर्ण, 16 रजत और 34 कांस्य पदक जीते हैं. मेजबान स्कॉटलैंड ने इतिहास रचते हुए करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और कुल 53 पदक हासिल किए, जिसमें 19 स्वर्ण, 15 रजत और 19 कांस्य हैं.

पदक तालिका :
1. इंग्लैंड: 58 स्वर्ण, 59 रजत, 57 कांस्य (174 पदक)
2. ऑस्ट्रेलिया: 49 स्वर्ण, 42 रजत, 46 कांस्य (137 पदक)
3. कनाडा: 32 स्वर्ण, 16 रजत, 34 कांस्य (82 पदक)
4. स्कॉटलैंड: 19 स्वर्ण, 15 रजत, 19 कांस्य (53 पदक)
5. भारत: 15 स्वर्ण, 30 रजत, 19 कांस्य (64 पदक)

इन खिलाड़ियों ने भारत को पदक दिलाए.

स्वर्ण पदक:
संजीता खुमुकचान (भारोत्तोलन-महिला वर्ग)
सुखन डे (भारोत्तोलन-पुरुष वर्ग)
अभिनव बिंद्रा (निशानेबाजी-पुरुष वर्ग 10 मीटर एयर राइफल)
अपूर्वी चंदेला (निशानेबाजी-महिला 10 मीटर एयर राइफल)
राही सरनाबोत (निशानेबाजी-25 मीटर पिस्टल)
सतीश शिवलिंगम (भारोत्तोलन-पुरुष वर्ग)
जीतू राय (निशानेबाजी-पुरुष 50 मीटर पिस्टल)
अमित कुमार (कुश्ती-पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किलोग्राम)
विनेश फोगट (कुश्ती-महिला फ्रीस्टाइल 48 किलोग्राम)
सुशील कुमार (कुश्ती-पुरुष फ्रीस्टाइल 74 किलोग्राम)
बबीता कुमारी (कुश्ती महिला 55 किलोग्राम)
योगेश्वर दत्त (कुश्ती पुरुष 65 किलोग्राम)
विकास गौड़ा (चक्का फेंक पुरुष)
दीपिका पल्लिकल-जोशना चिनप्पा (महिला युगल स्क्वॉश)
परुपल्ली कश्यप (पुरुष एकल बैडमिंटन)

रजत पदक :
मीराबाई चानू सैखोम (भारोत्तोलन-महिला 48 किलोग्राम)
सुशीला लिक्माबाम (जूडो-महिला 48 किलोग्राम भारवर्ग)
नवजोत चाना (जूडो-पुरुष 60 किलोग्राम भारवर्ग)
मलायका गोयल (निशानेबाजी-महिला 10 मीटर एयर पिस्टल)
प्रकाश नांजप्पा (निशानेबाजी-पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल)
अनोइका पॉल (निशानेबाजी-महिला 10 एयर राइफल)
अनीसा सैयद (निशानेबाजी-महिला 25 मीटर पिस्टल)
श्रेयसी सिंह (निशानेबाजी-महिला डबल ट्रैप)
रवि कातुलू (भारोत्तोलन-पुरुष 77 किलोग्राम भारवर्ग)
गुरपाल सिंह (निशानेबाजी-पुरुष 50 मीटर पिस्टल)
गगन नारंग (निशानेबाजी-पुरुष 50 मीटर राइफल प्रोन)
विकास ठाकुर (भारोत्तोलन-पुरुष 85 किलोग्राम भारवर्ग)
हरप्रीत सिंह (निशानेबाजी-पुरुष 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल)
संजीव राजपूत (निशानेबाजी-पुरुष 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन)
राजीव तोमर (कुश्ती-पुरुष 125 किलोग्राम भारवर्ग)
ललिता (कुश्ती महिला, 53 किलोग्राम)
बजरंग (कुश्ती पुरुष 61 किलोग्राम)
साक्षी मलिक (कुश्ती महिला 58 किलोग्राम)
सत्यव्रत कादियान (कुश्ती पुरुष 97 किलोग्राम)
गीतिका जाखड़ (कुश्ती महिला 63 किलोग्राम)
सीमा पूनिया (चक्का फेंक, महिला)
अचंता शरत कमल और एंथोनी अमलराज (टेबल टेनिस पुरुष)
सरिता देवी ( महिला 57-60 किलोग्राम मुक्केबाजी)
देवेंद्रो सिंह (पुरुष 49 किलोग्राम मुक्केबाजी)
मंदीप सिंह जांगरा (पुरुष 69 किलोग्राम मुक्केबाजी)
राजिंदर राहेलू (पुरुष हेवीवेट पावरलिफ्टिंग)
विजेंदर सिंह ( पुरुष 75 किलोग्राम मुक्केबाजी)
पुरुष हॉकी टीम
ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा (महिला युगल बैडमिंटन)

कांस्य पदक:
गणेश माली (भारोत्तोलन-पुरुष 56 किलोग्राम भारवर्ग)
कल्पना थोडम (जूडो-महिला 52 किलोग्राम भारवर्ग)
संतोषी मात्सा (भारोत्तोलन-महिला 53 किलोग्राम भारवर्ग)
राजविंदर कौर (जूडो-महिला +78 किलोग्राम भारवर्ग)
ओमकार ओटारी (भारोत्तोलन-पुरुष 69 किलोग्राम भारवर्ग)
मोहम्मद असब (निशानेबाजी-पुरुष डबल ट्रैप)
पूनम यादव (भारोत्तोलन-महिहला 63 किलोग्राम भारवर्ग)
मानवजीत सिंह संधु (निशानेबाजी-पुरुष ट्रैप स्पर्धा)
गगन नारंग (निशानेबाजी-पुरुष 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन)
लज्जा गोस्वामी (निशानेबाजी-महिला 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन)
चंद्रकांत माली (भारोत्तोलन-पुरुष 94 किलोग्राम भारवर्ग)
नवजोत कौर (कुश्ती महिला 69 किलोग्राम)
दीपा करमाकर (महिला वॉल्ट जिमनास्टिक)
पवन कुमार (कुश्ती पुरुष 86 किलोग्राम)
पिंकी जांगरा (महिला मुक्केबाजी 48-51 किलोग्राम)
सकीना खातून (महिला लाइटवेट पावरलिफ्टिंग)
पीवी सिंधु (महिला एकल बैडमिंटन)
आरएमवी गुरुसाई दत्त (पुरुष एकल बैडमिंटन)
अरपिंदर सिंह (पुरुष तिहरी कूद)


Check Also

भगवान शिव का अनन्य भक्त था विश्रवा ऋषि का पुत्र दशानन रावण : धर्म

दशहरे का पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व के रुप में मनाया जाता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *