Home >> Breaking News >> आजम-जव्वाद में ठनी, आजम ने की CBI जांच की मांग

आजम-जव्वाद में ठनी, आजम ने की CBI जांच की मांग


Azam and Jawwad
लखनऊ,एजेंसी-4 अगस्त। उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खान और शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद के बीच ठन गई है। शिया वक्फ बोर्ड के चुनाव को लेकर दोनों ओर से हुए आरोप-प्रत्यारोप के बाद अब केंद्रीय मंत्री आजम खान शिया धर्मगुरु पर जमकर हमला किया है। इतना ही नहीं जव्वाद से नाराज आजम ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखकर वक्फ बोर्ड की संपत्तियों की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) से कराने की भी अपील की है।
कल्बे जव्वाद पर निशाना साधते हुए आजम ने कहा कि मुझ पर वे लोग आरोप लगा रहे हैं, जो खुद केंद्रीय गृहमंत्री का स्वागत करते हैं और प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हैं। आजम ने मुख्यमंत्री को लिखा है, सरकार में शामिल होने के कुछ ही दिन बाद मैंने आपको मुस्लिम औकाफ की बर्बादी के बारे में लिखा था। मैंने सुन्नी वक्फ बोर्ड व शिया वक्फ बोर्ड दोनों के हालात से आपको वाकिफ कराया था। उन्होंने पत्र में लिखा है, बहुत ही बेदर्दी से वक्फ की जायदादों को बेचा गया और खुद को धर्म का ठेकेदार कहने वाले लोगों ने कौड़ियों के दाम उन तमाम औकाफ को बेच दिया, जिसे केंद्रीय कानून, राज्य के कानून तथा इस्लामी शरीयत के मुताबिक हरगिज नहीं बेचा जा सकता। यहां तक कि मस्जिदें तोड़कर प्लाटिंग कर दी गई। जब कब्रिस्तान तक बेच दिए गए, तब दूसरी जायदादों का कहना ही क्या।
आजम ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि मैं आपसे एक बार फिर इस बात की सिफारिश करता हूं कि पिछले 10 वर्षो की वक्फ संपत्तियों की सीबीआई द्वारा जांच कराने का कष्ट करें।
गौरतलब है कि शिया वक्फ बोर्ड चुनाव को लेकर पिछले कुछ दिनों से मौलाना कल्बे जव्वाद और आजम खान में ठन गई है। इससे पहले मौलाना जव्वाद ने आजम खां पर पिछले दिनों शिया वक्फ बोर्ड पर कब्जा करने का आरोप लगाकर बखेड़ा खड़ा कर दिया था। इसकी शिकायत शिया समुदाय के लोगों के साथ मौलाना ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर की थी। उन्होंने मुख्यमंत्री से शिया वक्फ बोर्ड के चुनाव निष्पक्ष रूप से कराने की भी मांग की है।


Check Also

बड़ी खबर : हाथरस में जातीय दंगे फैलाने की साजिश की जांच STF करेगी

हाथरस के बिटिया के प्रकरण में जातीय दंगे फैलाने की साजिश की जांच अब एसटीएफ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *