Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> लोगों को मोदी से निराशा हाथ लगी : हुड्डा

लोगों को मोदी से निराशा हाथ लगी : हुड्डा


Hooda
नई दिल्ली,एजेंसी-25 अगस्त | हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा है कि कांग्रेस राज्य में आसानी के साथ बहुमत की सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार से लोगों की जो उम्मीदें थीं, वे निराशा में बदल गईं हैं।

हुड्डा ने यह भी संकेत दिया कि कांग्रेस आगामी विधानसभा चुनाव में अपने कुछ उम्मीदवार बदल सकती है। उन्होंने कहा कि उन्होंने विधायकों को अवगत करा दिया है कि वे पार्टी से अपने टिकट को लेकर आश्वस्त न रहें। उन्होंने कहा कि वह लोकसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद से अब तक करीब 60 जनसभाएं कर चुके हैं और लोगों की प्रतिक्रिया ने दिखाया है कि कांग्रेस सत्ता में वापसी करेगी। हुड्डा ने नई दिल्ली स्थित अपने आवास पर एक साक्षात्कार में आईएएनएस को बताया, “जिस तरह का समर्थन और उत्साह..हमें जिस तरह से प्रतिक्रिया मिल रही है, उससे साफ है कि कांग्रेस आसानी से बहुमत के साथ सरकार बनाएगी।” 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा के लिए अगले दो माह में चुनाव होने की संभावना है। राज्य विधानसभा का कार्यकाल अक्टूबर में पूरा हो रहा है।हुड्डा ने कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की वजहों का विश्लेषण किया और पाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को जीत इसके प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार द्वारा पैदा की गई उम्मीदों की वजह से मिली। हुड्डा ने मोदी का नाम लिए बिना कहा, “नतीजे (लोकसभा चुनावों के) निराशाजनक थे। हमने उसकी वजह का विश्लेषण किया। हर वर्ग सरकार के प्रदर्शन से पूरी तरह संतुष्ट था। किसी ने भी उस पार्टी की विचारधारा को वोट नहीं दिया, जो जीती (भाजपा)। लोगों ने एक व्यक्ति विशेष के लिए वोट किया।” उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की कीमतें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के कार्यकाल में बढ़ी हैं और सरकार ने रेल भाड़ा बढ़ाया है। हुड्डा ने कहा, “सबसे बड़े भुग्तभोगी किसान हैं। मैं इस सरकार का आभारी रहूंगा, अगर वे कीमतें उतने नीचे ले आएं, जितने कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) के सत्ता में रहते हुए थीं।”हुड्डा ने कहा, “जो उम्मीद थी वह निराशा में बदल गई है। उत्तराखंड में उपचुनाव के नतीजे देख लें।” कांग्रेस ने पिछले माह उत्तराखंड में तीन विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में जीत दर्ज कराई थी। उनसे पूछा गया कि उनका मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा है या इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो)? जवाब में हुड्डा ने कहा, “जो कोई भी दूसरे स्थान पर रहता है।”यह पूछे जाने पर कि पार्टी नेतृत्व लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के मद्देनजर राज्य का निजाम बदलने के बारे में विचार कर रहा है, तो हुड्डा ने कहा कि अटकलें मीडिया ने पैदा की हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि वह पार्टी के एक सैनिक हैं। उन्होंने कहा, “मुझे जो भी निर्देश दिए जाते हैं, मैं उनका पालन करूंगा।”


Check Also

बिहार विधानसभा सत्र : मै भारत के संविधान की शपथ लेना चाहता हु ना कि हिंदुस्तान के संविधान की : AIMIM विधायक अख्तरुल इमान

बिहार विधानसभा सत्र के पहले ही दिन एआईएमआईएम के विधायक अख्तरुल इमान ने शपथ लेते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *