Home >> मुद्दा यह है कि >> कानपुर रेल हादसा: गिरफ्तार शमसुल होदा का पाकिस्तान से भी कनेक्शन है

कानपुर रेल हादसा: गिरफ्तार शमसुल होदा का पाकिस्तान से भी कनेक्शन है


पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आइएसआइ के साथ मिलकर भारत में विध्वंसात्मक कार्रवाई की साजिश करनेवाले समशुल होदा को नेपाल की राजधानी काठमांडू में नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस बीच भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के भी नेपाल पहुंचने की सूचना है।07_02_2017-trainaccident

बताया गया है कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआइए) की टीम के अलावा आइबी व रॉ के भी अधिकारी वहां पहले से मौजूद हैं। बताया गया है कि दुबई में रहकर आइएसआइ की गतिविधि संचालित करनेवाले नेपाल के कलेया निवासी समशुल होदा को नेपाल भारतीय जांच एजेंसियों के दबाव में ही दुबई से डिपोर्ट किया गया था।

नेपाल पुलिस कर रही पूछताछ, चल रही आडियो क्लिप की पड़ताल

पूर्वी चंपारण में तीन लोगों की गिरफ्तारी के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को इस बात के सबूत मिले थे कानपुर रेल हादसे का मुख्य साजिशकर्ता समशुल ही था। उसी के इशारे पर पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन व कानपुर में रेल हादसा कराया गया था। जिसमें करीब 150 लोगों की मौत हुई थी।

समशुल गैंग के सरगना ब्रजकिशोर के पास मिली थी ऑडियो क्लिप

नेपाल में गिरफ्तार कलेया निवासी ब्रजकिशोर गिरी के फोन से एक ऑडियो क्लिप मिला था। ऑडियो क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश की बातचीत है। नेपाल पुलिस ने एनआइए समेत तमाम जांच एजेंसियों को आडियो क्लिप सौंप दिए हैं। एनआइए ने हाल में तीन एफआईआर दर्ज की है।

समशुल ने स्वीकारा पाकिस्तान से कनेक्शन

पूछताछ के बाद शमसूल होदा को कलेया लाया गया है। जहां उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी। काठमांडू में एनआइए और नेपाल पुलिस की स्पेशल ब्यूरो द्वारा की गई पूछताछ में समशुल ने पाकिस्तान से अपने कनेक्शन की बात स्वीकारी है।

कहा-एसपी बारा (नेपाल) ने

समशुल को नेपाल से कलेया लाया गया है। उससे पूछताछ चल रही है। साथ ही उसके खिलाफ कानूनी प्रक्रिया भी आरंभ कर दी गई है।

नरेन्द्र उप्रेती

एसपी, बारा (नेपाल)

बिहार पुलिस ने किया था खुलासा

पिछले साल नवंबर के महीने में कानपुर में हुए भीषण ट्रेन हादसे के बारे में बिहार पुलिस ने सनसनीख़ेज़ खुलासा किया था। बिहार पुलिस के मुताबिक कानपुर रेल हादसा असल में आतंकी साज़िश थी, जिसे पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अंजाम दिया था। पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया था कि दुबई में बैठे शमसुल होदा ने अपने लोगों के जरिये इन घटनाओं को अंजाम दिया था।

घोड़ासहन मामले में पुलिस कर रही थी जांच

बिहार पुलिस पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में एक अक्टूबर 2016 को रेल पटरी पर मिले बम के मामले की जांच कर रही थी। जांच के दौरान इस मामले में मोती पासवान नामक व्यक्ति की संलिप्तता सामने आयी। मोती से जब पूछताछ हुई तो ये सनसनीखेज खुलासा हुआ। दुबई में बैठे नेपाली कारोबारी शमसुल होदा ने ये साजिश रची थी।उसने नेपाल के अपराधी ब्रजकिशोर गिरी के जरिये पैसा भिजवाया। इसी पैसे से अपराधियों ने रेल पटरियों पर बम लगाया।

 

शमसुल होदा नेपाल का रहनेवाला है और दुबई में बिजनेस करता है। सूत्रों के अनुसार होदा का पाकिस्तान के आईएसआई और दाउद इब्राहिम से भी संबंध है। पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन और कानपुर में इंदौर-पटना रेल एक्सप्रेस के पीछे नेपाली के शमसुल होदा का हाथ है जो ब्रजकिशोर गिरी के जरिए अंजाम देता था।

गौरतलब है कि भारत-नेपार बॉर्डर से ही आतंकवादी यासिन भटकल को गिरफ्तार किया था। 20 नंवबर 2016 को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई थी। इसमें 153 लोगों की मौत हुई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल थे।


Check Also

विजय दिवस: वॉर मेमोरियल में पीएम मोदी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के 50 साल पूरा होने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *