Wednesday , 27 January 2021
Home >> My View >> सिंगल हैं तो कोई बात नहीं, ऑनलाइन मनाएं वैलेंटाइन डे

सिंगल हैं तो कोई बात नहीं, ऑनलाइन मनाएं वैलेंटाइन डे


वैलेंटाइन वीक शुरू हो चुका है. दुकानो के बाहर, रस्ते में, गलियों में रंग बिरंगे गुलाब के फूल दिखने लगे हैं. चारो तरफ मोबाइल फ़ोन्स एसएमएस और व्हाट्सऐप पर मैसेज की आवाजें आ रही हैं.ग्रीटिंग कार्ड्स, फूल, गिफ्ट्स की बिक्री पिछले सारे दिनों के रिकॉर्ड तोड़ रही है. बगीचों में, चौराहो पर और मॉल्स में लड़के लड़कियों के जोड़े दिखाई दे रहे हैं पर जरा रुकिए अगर आप सिंगल हैं तो ये सब आपके किस काम के? अच्छा निराश मत होइए हम बताते हैं आपको सिंगल रहते हुए भी वैलेंटाइन डे मनाने का तरीका. हम बात कर रहे हैं डेटिंग ऐप्स की जो आपको अकेला महसूस नहीं होने देंगे.

वैलेंटाइन वीक शुरू हो चुका है. दुकानो के बाहर, रस्ते में, गलियों में रंग बिरंगे गुलाब के फूल दिखने लगे हैं. पर अगर आप सिंगल हैं तो कैसे मनाएं वैलेंटाइन जानिए.

Tinder

सोशल मीडिया डेटिंग ऐप्स का ट्रेंड है. कुछ ही साल पहले लांच हुआ टिंडर (Tinder) नाम की डेटिंग ऐप आज कल भारत में बहुत चर्चित है. इसमें आप अपनी प्रोफाइल बनाकर डेटिंग के लिए पार्टनर खोज सकते हैं. कई तरह की लड़कियां जो ऑनलाइन डेटिंग करना चाहतीं हैं वो आपको आसानी से मिल जाएंगी अगर बात आगे बढ़ी तो इस वैलेंटाइन आपका काम भी हो ही जाएगा.

OkCupid

ओकेक्यूपिड भी एक शानदार ऐप है जिसे लॉगइन करने के लिए फेसबुक लॉगइन की जरूरत नहीं पड़ती. आप अपना यूजरनेम और लॉगइन बनाएं और शुरू हो जाएं.इसमें बात-चीत करने पर आपको पर्सेंटाइल मिलता है. आप चाहें तो इस पर ब्लाइंड डेट भी इंज्वॉय कर सकते हैं.

Thrill

ये ऐप वुमेन बेस्ड है और सुरक्षित है. आप इसमें अपने पार्टनर की प्रोफाइल पिक्चर को रेटिंग दे सकते हैं. लड़कियां जब चाहें इसे ज्वाइन कर सकती हैं पर लड़को को इस पर आने के लिए अप्लाई करना पड़ता है. इस ऐप में ऑफलाइन चैटिंग के साथ साथ चैट स्टीकर और वीडियोज शूट करने का भी ऑप्शन है. थ्रिल के करीब 50,000 यूजर्स हैं.

Woo

वू एक मैचमेकिंग ऐप है जो एजुकेशनल प्रोफेशनल्स पर फोकस करता है. इसमें वॉयस इंट्रो, टैग सर्च और डाइरेक्ट मैसेजिंग जैसे फीचर्स हैं. आप इस ऐप पर अच्छा समय बिता सकते हैं और चाहें तो अपने लिए पार्टनर भी खोज सकते हैं


Check Also

मासूम बच्चे बीमारी नहीं बल्कि दवा के नाम पर दिए जहर की वजह से गए मौत के मुंह में

 दवा ही जहर बन जाए तो सोचना पड़ता है कि इस जहर से मरा क्या- …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *