Home >> Politics >> ‘महिला आरक्षण मोदी के दिल में है लेकिन राज्यसभा में हम मजबूर हो जाते हैं’

‘महिला आरक्षण मोदी के दिल में है लेकिन राज्यसभा में हम मजबूर हो जाते हैं’


केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि राज्यसभा में बहुमत होने की स्थिति में पार्लियामेंट में महिलाओं के 33 प्रतिशत आरक्षण का कानून केंद्र सरकार पास करेगी। 245 सदस्यों के सदन में बीजेपी के पास इस वक्त 56 सदस्य हैं।
 
इसके अलावा कांग्रेस के राज्यसभा में 60 सदस्य हैं, जबकि बाकी के सदस्य सपा, बसपा, आरजेडी और जदयू जैसी पार्टियों के हैं। पांच राज्यों का 11 मार्च का परिणाम बीजेपी के लिए महत्वपूर्ण है।

403 विधानसभा सीटों के उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव परिणाम राज्यसभा के समीकरण को बदलेगा। नायडू ने कहा “महिलाओं के आरक्षण का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल में है। अब वह दिन ज्यादा दूर नहीं है जब आम सहमति से ये कानून पास हो जाएगा”।

अमरावती में राष्ट्रीय महिला संसद में बोलते हुए नायडू ने कहा “हम राज्यसभा में बहुमत में आते ही महिलाओं के आरक्षण का बिल पास करेंगे”। नायडू ने ये भी कहा कि सिर्फ बिल ही पर्याप्त नहीं है। बल्कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति और प्रशासनिक कौशल की भी बेहद जरुरत है।

इसके लिए राजनीतिक पार्टियों को दृढ़ निश्चय करना चाहिए। नायडू बोले आपके समर्थन से हम महिलाओं को सशक्त करेंगे। आंध्रप्रदेश की राजधानी में तीन दिवसीय राष्ट्रीय महिला संसद का आज पहला दिन था।

आंध्र प्रदेश विधानसभा द्वारा तीन दिवसीय महिला संसद का आयोजन राज्य की राजधानी अमरावती में किया जा रहा है। नायडू के अलावा इस कार्यक्रम में बौद्ध आध्यात्मिक नेता दलाई लामा, एन चंद्रबाबू नायडू, किरण बेदी, मनीषा कोइराला भी मौजूद थीं।

 

Check Also

नेताजी के जन्मदिन पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आठ किलोमीटर लंबी पदयात्रा कर रही

नेताजी के जन्मदिन पर पषश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आठ किलोमीटर लंबी पदयात्रा कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *