Home >> Breaking News >> तारा शाहदेव मामले में नया मोड़…

तारा शाहदेव मामले में नया मोड़…


Tara'
नई दिल्ली,एजेंसी-29 अगस्त। रांची के तारा शाहदेव केस में फिर से एक नया मोड़ आया है। अब उसके झारखंड के राजनेताओं से रिश्तों पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। रंजीत की पत्नी तारा शाहदेव ने राज्य के मंत्री सुरेश पासवान और कुछ अन्य नेताओं, अफसरों पर रंजीत को बचाने का आरोप लगाया है। तारा ने खुलासा किया है कि रंजीत उर्फ रकीबुल किसी नवंबर प्लान पर काम कर रहा था। सेक्स रैकेट चलाने में भी रंजीत का नाम उछल रहा है।

तारा शाहदेव ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि रंजीत ऊर्फ रकीबुल फोन पर अक्सर एक व्यक्ति से बात करता था जिसे वह हां सरकार, जी सरकार कहकर संबोधित करता था। अक्सर इस व्यक्ति के फोन आते रहते थे।

इससे पहले कल राष्ट्रीय निशानेबाज तारा शाहदेव की प्रताड़ना और कथित धर्म परिवर्तन प्रकरण के मुख्य आरोपी रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन और उसकी मां को गुरुवार को यहां की स्थानीय अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

निशानेबाज तारा शाहदेव ने आरोप लगाया है कि रंजीत सिंह का असली नाम रकीबुल हसन है और उसने शादी के बाद तारा पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाला था। झारखंड की राजधानी रांची में राष्ट्रीय शूटर तारा शाहदेव से धोखाधड़ी कर शादी करने और कथित तौर पर मारपीट कर उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव डालने के आरोपी रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल हसन को पुलिस ने मंगलवार रात दिल्ली-गाजियाबाद सीमा से गिरफ्तार कर लिया। इसी बीच आरोपी रंजीत कोहली ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन किया है।

तारा के पति का कहना है कि उनका असली नाम रंजीत कोहली ही है रकीबुल हसन नहीं। इस सिलसिले में कोहली ने राज्य सरकार को चिट्ठी भी लिखी थी और साथ ही उन्होंने ड्राइविंग लाइसेंस और झारखंड सरकार के गृह विभाग की तरफ से जारी परिचय पत्र की तस्वीरें भी जारी की हैं। उसका कहना है कि वह सिक्ख है लेकिन उसने ये कबूल किया है कि वह नमाज पढ़ता था लेकिन उसने धर्म परिवर्तन नहीं किया है। हलांकि बाद में उसने यह भी कबूल कर लिया की उसने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है। इस तरह रकीबुल के झूठ धीरे धीरे सामने आ रहे हैं।

इस बीच खबर है कि इसी मामले में झारखंड हाइकोर्ट के रजिस्ट्रार विजिलेंस मुस्ताक अहमद को निलंबित कर दिया गया है। अनिल कुमार चौधरी ने बताया कि तारा शाहदेव मामले में मुस्ताक अहमद का नाम भी सामने आया है। उनके अनुसार तारा ने अपने बयान में भी इसका जिक्र किया है।

चौधरी के अनुसार जो बातें सामने आई हैं, उसे न्यायिक सेवा के कंडक्ट के प्रतिकूल समझते हुए निलंबन की कार्रवाई की गई है। पूरे मामले में उनसे तीन हफ्ते में जवाब देने को भी कहा गया है।

रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने बताया है कि कोहली से पूछताछ में कई तथ्य सामने आए है।

प्रभात कुमार ने कहा कि अभी तक की जांच से ये साबित होता है कि रंजीत कोहली ने धर्म परिवर्तन नहीं किया है। रंजीत कोहली का कहना है कि उनकी इस्लाम के प्रति श्रद्धा है, इससे ज़्यादा कुछ नहीं।

पुलिस के मुताबिक़ कोहली ने पूछताछ में ये भी माना है कि वो नमाज भी पढ़ा करते थे। कोहली ने कथित तौर पर अपनी पत्नी से कहा था कि यदि वो इस्लाम स्वीकार कर लें तो अच्छा होगा।

पुलिस के मुताबिक कोहली ने राज्य के मंत्री और कई बड़े अधिकारियों से अपने संबंध होने की बात भी पूछताछ में कही। कोहली ने बताया कि वो अपने एनजीओ के काम के लिए अधिकारियों और नेताओं के पास आते-जाते रहे हैं।


Check Also

किस आधार पर राज्‍यों को आवंटित की जाती है कोरोना रोधी वैक्‍सीन, केंद्र सरकार ने दी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि कि‍सी राज्य को कोरोना रोधी टीकों का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *