Saturday , 28 November 2020
Home >> Breaking News >> मोदी जापान पहुंचे

मोदी जापान पहुंचे


Japan Modi
नई दिल्ली,एजेंसी-30 अगस्त। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के क्योटो में पहुंच गए हैं। उपमहाद्वीप के बाहर ये उनकी पहली द्विपक्षीय यात्रा है। मोदी के दौरे की शुरुआत क्योटो से हुई है। क्योटो में जापान के पीएम शिंजो अबे ने उनकी की।
इस यात्रा के दौरान जापान के साथ कारोबारी समझौतों के साथ-साथ नागरिक परमाणु करार पर भी हस्ताक्षर हो सकते हैं। यात्रा से पहले मोदी ने बयान जारी करके कहा कि भारत-जापान संबंध समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं और दोनों देश एक दूसरे से काफी कुछ सीख सकते हैं।
पढ़ें: प्रधानमंत्री के एजेंडे में क्या-क्या?
1. बुलेट ट्रेन समझौता
क्योटो में मोदी जापान के हाई स्पीड रेलवे को देखेंगे। पीएम भारत में बुलेट ट्रेन चलाने की बात कह चुके हैं। लेकिन जापान को इस मामले में चीन से कड़ी प्रतिस्पर्धा मिल रही है, सवाल ये है कि भारत किसे पसंद करेगा।
2. नागरिक परमाणु करार
इस दौरे पर जापान के साथ नागरिक परमाणु करार मुमकिन है। हालांकि लगभग साढ़े तीन सालों की चर्चा के बावजूद अभी भी कुछ पेंच हैं।
3. यूएस-2 एंम्फीबियन एअरक्राफ्ट
जापान से 15 जहाजों की डील की बात हो रही है जिसमें से 3 हम खरीदेंगे और 12 खुद बनाएंगे, हवा और पानी में चलने वाले ऐसे जहाज की तकनीक में जापान बहुत आगे है )
4. रणनीतिक साझेदारी का नया अध्याय
रक्षा और विदेश मंत्रालय के सचिव और उपमंत्रियों के बीच 2+2 फॉर्मेट वाली सालाना वार्ता को उपग्रेड करना भी एजेंडे में है, यानी हर साल मंत्री स्तर की वार्ता शुरू हो सकती है लेकिन जापान ऐसा सिर्फ अमेरिका और रूस के साथ ही करता है।
5. मेरीटाइम समझौता
मोदी की यात्रा के दौरान भारत और जापान की नौसेना के साझा अभ्यास पर भी फैसला मुमकिन है। दरअसल, भारत-जापान में रक्षा क्षेत्र में मजबूत साझेदारी चीन के दबदबे को कम करने में निर्णायक साबित हो सकती है।
6. आर्थिक समझौता
मोदी के साथ इस दौरे पर मुकेश अंबानी, अदानी, चंदा कोचर, किरण मजूमदार शॉ समेत कई उद्योगपतियों और अर्थशास्त्रियों का एक बड़ा प्रतिनिधिमंडल होगा। उम्मीद है कि आर्थिक मोर्चे पर कई बड़े समझौते हों।
7. जापान से 1.7 लाख करोड़ का फंड
ऐसी खबरें हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी इकॉनमी की रफ्तार बढ़ाने के लिए अगले पांच साल में जापान से 1.7 लाख करोड़ डॉलर का फंड चाहते हैं, लेकिन सवाल ये है कि जापान की इसमें दिलचस्पी है या नहीं।
भारत बड़े समझौतों के साथ स्मार्ट सिटी, रेलवे प्रोजेक्ट्स, सोलर एनर्जी और गंगा सफाई अभियान जैसे मेगा प्रोजेक्ट्स के लिए जापान से मदद चाहता है। लेकिन उम्मीदों और समझौतों के बीच बहुत से पेंच भी हैं, लिहाजा क्या रंग लाएगा प्रधानमंत्री का लव इन टोक्यो नजर सबकी रहेगी।
मोदी का जापान प्रेम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जापान प्रेम के पीछे उगते सूरज के देश की शानदार तरक्की है। गुजरात का सीएम रहते हुए मोदी अपने सूबे को भी जापान की तरह तरक्की करते हुए देखना चाहते थे। इसीलिए वो जापान पहुंचे थे। इसी यात्रा के दौरान मोदी के दिल में भारत में बुलेट ट्रेन लाने के सपने ने भी जन्म लिया था।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जापान प्रेम छुपा नहीं है। जापान से उनका रिश्ता पुराना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लव इन टोक्यो की कहानी नई नहीं है। जापान से पीएम के उस खास रिश्ते की कहानी जिसकी नींव 2007 और 2012 में पड़ी थी जब नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर जापान यात्रा की थी।


Check Also

कश्मीर : आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर किया हमला, दो जवान घायल

मध्य कश्मीर के श्रीनगर जिले के एचएमटी इलाके में गुरुवार दोपहर संदिग्ध आतंकियों ने सुरक्षाबलों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *