Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> राहुल पर बीजेपी का पलटवार

राहुल पर बीजेपी का पलटवार


नई दिल्ली,(एजेंसी) 04 सितम्बर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर बीजेपी ने यह कहते हुए पलटवार किया है कि राहुल की बात तो उनकी पार्टी में ही नहीं सुनी जाती, तो हम क्यों सुनें। इसके साथ ही बीजेपी के कई नेताओं ने एकसाथ राहुल पर हमला बोल दिया है।

Rahul Gandhi 1

राहुल गांधी ने अमेठी में कहा था कि मोदी जापान में ड्रम बजा रहे हैं, जबकि देश में जनता पावर कट, महंगाई, सड़कों और पानी की कमी से जूझ रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने वादे तो बड़े-बड़े कर दिए, लेकिन सत्ता में आने के बाद हकीकत में अभी तक कुछ नहीं किया।

इस पर जवाब देते हुऐ बीजेपी नेता एस.पी. जैन ने कहा कि पानी और बिजली की समस्या पिछली यूपीए सरकार की विरासत है। पार्ल्यामेंटरी अफेयर्स मिनिस्टर एम. वेंकैया नायडू ने भी राहुल गांधी की टिप्पणी को फालतू करार दिया। उन्होंने कहा, ‘जब उनकी बात को उनकी पार्टी में ही कोई नहीं सुनता, हम क्यों सुनें ।’

बीजेपी उपाध्यक्ष मुक्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कांग्रेस अभी तक जनादेश को स्वीकार नहीं कर पाई है। उन्होंने कहा, ‘देश की जनता इस परिवर्तन(मोदी के पीएम बनने) पर गर्व महसूस कर रही है।’

अमित शाह ने कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के एक बयान पर भी चुटकी ली। पिछले दिनों दिग्विजय ने कहा था कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार इसलिए हुई थी, क्योंकि राहुल गांधी चुप थे। इसपर अमित शाह ने कहा, ‘यह तो अच्छा था कि राहुल गांधी चुप थे। अगर वह चुप नहीं रहते, तो कांग्रेस को 44 सीटें भी नहीं मिलतीं।‘ कुछ दिन बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए अमित शाह इन दिनों महाराष्ट्र में हैं। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, ‘जब तक महाराष्ट्र में कांग्रेस सत्ता में है, मोदी जी का ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा सच नहीं हो सकता।’

बीजेपी प्रवक्ता ललिता कुमारमंगलम ने कहा, ‘राहुल गांधी को तथ्यों का पता होना चाहिए। एनडीए सरकार ने बढ़ती हुई कीमतों को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं। राहुल सीनियर नेता हैं, उन्हें जिम्मेदारी से बयान देने चाहिए।’ उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए कि उनके चुनाव क्षेत्र में क्यों सड़कों और बिजली की हालत खराब है। वह 10 साल से वहां का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।


Check Also

ओडिशा सरकार ने सुंदरगढ़ जिले में एक दूसरे एम्स की स्थापना के लिए जारी किया प्रस्ताव

ओडिशा सरकार ने राज्य के पश्चिमी हिस्सों में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *